अख्तियार नें निलंबित महानिर्देशक शर्मा के साथ ३ लोगों पर विषेश अदालत में किया मुकदमा दर्ज


हिमालिनी डेस्क
काठमांडू, १५ जुलाई ।
अख्तियार दुरुपयोग अनुसंधान आयोग ने आंतरिक राजस्व विभाग के निलंबित महानिर्देशक चूडामणि शर्मा सहित तीन लोगों के खिलाफ आज विशेष अदालत में मुकदमा दर्ज किया है ।

उनके ऊपर दस अरब दो करोड़ १९ लाख रुपए का भ्रष्टाचार करने का आरोप है । कर निर्धारण करते समय अपचलन किए होने के आरोप में आयोग ने महानिदेशक शर्मा सहित कर निराकरण आयोग के अध्यक्ष लुंबध्वज महत और सदस्य उमेश ढकाल के विरुद्ध अख्तियार ने मुकदमा दायर किया है ।

गौरतलब है कि अख्तियार के इतिहास में ही ये सबसे बड़े भ्रष्टाचार से संबंधित मुद्दा है । शर्मा अभी भी आयोग की हिरासत में हैं ।

इसी तरह अख्तियार दुरुपयोग अनुसंधान आयोग ने भ्रष्टाचार के आरोप में राजस्व अनुसंधान विभाग अंतर्गत मध्य पश्चिमांचल व सुदूर पश्चिमांचल क्षेत्रीय कार्यालय कोहलपुर बाँके में कार्यरत अनुसंधान अधिकारी भीम प्रसाद घिमिरे और कंप्यूटर अधिकारी गोविंद बहादुर शाही के खिलाफ भी आज विशेष अदालत काठमांडू में मुकदमा दर्ज किया है ।

उन के खिलाफ कर निर्धारण के दौरान सेवाग्राहियों से घूस माँगने की सूचना और शिकायत के आधार पर अख्तियार कार्यालय कोहलपुर से तैनात टोली ने उन्हें पाँच लाख सत्तर हजार घूस सहित हिरासत में लिया था । ये जानकारी अख्तियार ने दी है ।

Loading...
Tagged with

Leave a Reply

Be the First to Comment!

avatar
  Subscribe  
Notify of
%d bloggers like this: