अनावश्यक मन्त्रियों की भीड़, निवास अभाव में मन्त्री रहते हैं विद्यालय में

काठमांडू, १८ भाद्र ।
जब शेरबहादुर देउवा प्रधानमन्त्री बनते हैं, कुछ न कुछ इतिहास बन जाता है । लेकिन इतिहास सकारात्मक नहीं, नकारात्मक होता है । विशेषतः मन्त्रिमण्डल में सहभागियों की संख्या में उन्होंने इतिहास बनाया है । इससे पहले ४८ सदस्यीय (जो अनावश्यक है) मंत्री मण्डल बनाकर इतिहास रचने वाले देउवा ने इस बार भी २ दर्जन से ज्यादा राज्य बना कर अपनी पुरानी रेकर्ड को ब्रेक किया है ।
आवश्यकता से ज्यादा मन्त्री होने के कारण उनके लिए आवास का भी अभाव हो रहा है । सिर्फ आवास ही नहीं, मन्त्रालय भवन (अफिस) का भी अभाव हो रहा है । एक ही मन्त्रालय में पार्टिसन करके दो मन्त्री भी रहते आ रहे हैं । निवास अभाव के कारण एक मन्त्री तो १२ दिन से विद्यालय में रहते आए हैं । युवा तथा खेलकुद राज्यमन्त्री तेजुलाल चौधरी ललितपुर महानगरपालिका–१, कुपण्डोल स्थित नाइटिंगेल स्कुल में सुरक्षा पोष्ट खड़ा कर रहते आए हैं । मन्त्री के सुरक्षा के लिए तैनाथ सुरक्षाकर्मी भी वही पोष्ट खड़ा करके रहने लगे हैं ।
स्मरणीय बात तो यह है कि किसी भी विद्यालय में सुरक्षाकर्मी हाथहतियार के साथ नहीं रह सकते हैं, ऐसा राज्य की नीति है । लेकिन नीति पालनकर्ता मन्त्री तथा कर्मचारी ही उस नीति को उल्लंघन कर रहे हैं । हां, नाइटिंगेल मन्त्री चौधरी का ही विद्यालय है, मन्त्री बनने से पहले से चौधरी उसी स्थान में रहते आए थे । जब राज्य मन्त्री बन गए, तब सरकार द्वारा उपलब्ध सुरक्षाकर्मी और सहयोगी को भी उन्होंने स्कुल में ही ले आए ।

Loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz
%d bloggers like this: