२ जुलाई

जलालाबाद, रायटर/एएफपी। अफगानिस्तान के पूर्वी शहर जलालाबाद में रविवार को सिखों व हिंदुओं को ले जा रही बस पर आत्मघाती हमले में कम से कम 20 लोगों की मौत हो गई और 20 अन्य घायल हैं। नांगरहार प्रांत के पुलिस प्रमुख गुलाम सनाई स्तानेकजई ने बताया कि आत्मघाती हमलावर ने एक बस में विस्फोट कर दिया। बस पर सवार लोग राष्ट्रपति अशरफ गनी से मिलने जा रहे थे। इनमें ज्यादातर अल्पसंख्यक सिख व हिंदू थे।

स्तानेकजई के अनुसार, इस आत्मघाती हमले में कम से कम दस सिखों की मौत हुई है। मरने वालों में दो हिंदू भी शामिल बताए जा रहे हैं। नांगरहार प्रांत के गवर्नर के प्रवक्ता अताउल्ला खोगयानी ने बताया कि इस हमले से कुछ ही घंटे पहले राष्ट्रपति ने जलालाबाद में एक अस्पताल का उद्घाटन किया था। हमला इतना जबरदस्त था कि धुएं के गुबार से पूरे मुखाबेरात स्क्वायर में अंधेरा छा गया और आसपास के कई दुकानों और मकानों को नुकसान पहुंचा। जहां पर यह हमला हुआ, उस इलाके में ज्यादातर हिंदुओं की दुकानें हैं।

अधिकारियों के मुताबिक, हताहतों की संख्या इससे कहीं ज्यादा हो सकती थी। लेकिन, राष्ट्रपति गनी की यात्रा के चलते ज्यादातर सड़कों को बंद कर दिया गया था। राष्ट्रपति के प्रवक्ता ने बताया कि गनी इस समय जलालाबाद में ही हैं। लेकिन, उस इलाके से दूर हैं, जहां आत्मघाती हमला हुआ। अस्पताल के एक अधिकारी ने बताया कि सात शव यहां लाए गए हैं। कई घायल लोगों को भी इलाज के लिए भर्ती कराया गया है। अभी तक किसी ने इस आत्मघाती हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है। लेकिन, हाल के दिनों में आइएस के आतंकी यहां अपनी जड़ें जमाने में कामयाब रहे हैं। पिछले कुछ समय से वे जलालाबाद में लगातार आतंकी हमलों को अंजाम दे रहे हैं। जलालाबाद नांगरहार प्रांत की राजधानी है।