अब शिक्षक बनने के लिए विषयगत लाइसेन्स अनिवार्य !

काठमांडू, ३ दिसम्बर । आप शिक्षक हैं, लेकिन आप के पास विषयगत अध्यापन अनुमतिपत्र (लाइसेन्स) नहीं है तो अब आप को अध्यापन कार्य से बञ्चित किया जा सकता है । शिक्षक सेवा आयोग ने कक्षा ६ से ऊपर अध्यापन करनेवाले शिक्षकों को अनिवार्य विषयगत लाइसेन्स की व्यवस्था करने कि तयारी की है । आयोग स्रोत के अनुसार कक्षा ६ से ऊपर अध्यापन करनेवाले शिक्षकों को अनिवार्य रुप में विषयगत लाइसेन्स लेना होगा । आयोग के प्रमुख प्रशासकीय अधिकृत डा. तुलसीप्रसाद थपलिया ने विज्ञ समूह से परामर्श कर विषयगत लाइसेन्स व्यवस्थापन करने के लिए अवधारणपत्र पेश किया है ।


शिक्षा क्षेत्र में आवद्ध विज्ञ समूह ने भी विषयगत लाइसेन्स अनिवार्य करनेके सम्बन्ध में सकारात्मक प्रतिक्रिया दिया है । अगर कोई शिक्षक एक से अधिक विषयों में लाइसेन्स लेना चाहते हैं तो उनके लिए भी लाइसेन्स की व्यवस्था हो सकती है । स्मरणीय है, आयोग ने अभी तक शिक्षकों को तहगत लाइसेन्स वितरण करते आया है । जिसके चलते विषयगत दक्षता हासिल न होनेवाले शिक्षकों को भी जिम्मेदवारी दिया जाता था । आयोग के प्रशासकीय प्रमुख थमलिया ने कहा– ‘गुणस्तरीय शिक्षा के लिए विषयगत दक्षता आवश्यक है, उसके लिए विषयगत लाइसेन्स होना चाहिए ।’ उनके अनुसार लाइसेन्स प्रत्यके पाँच–पाँच वर्ष में नवीकरण किया जाएगा ।

Loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

avatar
  Subscribe  
Notify of
%d bloggers like this: