‘अमेरिकी सेना को देख पत्नी के पल्लू में छिप गया था लादेन’

वाशिंगटन. अमेरिकी नेवी की सील टीम ने दुर्दांत आतंकवादी ओसामा बिन लादेन को कैसे खत्म किया इसकी परतें अब धीरे-धीरे खुल रही हैं। इसी साल मई में अमेरिकी सेना ने लादेन को ऐबोटाबाद स्थिति एक हवेली में घुसकर उसे खत्म कर दिया था। लेकिन इस ऑपरेशन में क्या-क्या हुआ था, इस बात का विवरण मिशन सील के पूर्व कमांडर चक फेरर ने अपनी किताब में दिया है।

चक ने अपनी नई किताब सील टार्गेट जेरोनीमो में उस रेड के वो तथ्य बताए हैं, जो कि यूएस अधिकारियों द्वारा दिए विवरण से भिन्न हैं।

चक पीफैरर ने बताया है कि अमेरिकी सेना को घर के अंदर आता देख लादेन ने दरवाजा अंदर से बंद कर लिया था। लेकिन जब सेना अंदर कमरे में घुसी तो वो अपनी पत्नी अमाल के पीछे छिपा हुआ था। अमाल ने चिल्लाया था, ये वो नहीं है। प्लीज ऐसा मत करो।

इसी कारण अमाल के पैर में भी गोली लगी थी।

द टेलीग्राफ अखबार ने पूर्व कमांडर चक पीफैरर के हवाले से यह जानकारी दी। पीफैरर ने कार्रवाई का जो ब्योरा दिया है वह सील के आधिकारिक बयान से बिल्कुल अलग है। सील की टीम लादेन के आवास पर कैसे उतरी और उसका ब्लैक हाक हेलीकाप्टर कैसे दुर्घटनाग्रस्त हुआ इन सबके बारे में पीफैरर का ब्योरा बिल्कुल अलग है।

पीफैरर ने कहा, लादेन कार्रवाई शुरू होने के 90 सेंकड के भीतर ही मारा गया था। इसके लिए कार्रवाई लम्बी नहीं चली थी। सिर्फ चार राउंड गोलियों में ही उसका काम तमाम हो गया था। सील के जवान हेलीकाप्टर के जरिये पहले जमीन पर नहीं बल्कि लादेन के मकान की छत पर इकट्ठा हुए थे।

उन्होंने बताया कि लादेन के मारे जाने के बाद जब हेलीकाप्टर ने वापसी की उडान भरी तभी वह मुख्य आवास की पूर्वी चहारदीवारी में गिर पडा। उन्होंने कहा कि आधिकारिक जानकारी में बताया गया था कि सील के जवान पहले नीचे उतरे फिर वे सीढियों से होते हुए लादेन तक पहुंचे थे। पूर्व कमांडर ने कहा कि यदि ऐसा करने की भूल की गयी होती तो लादेन को खुद का बचाव करने के लिए पर्याप्त समय मिल जाता।

सऊदी अरब में जन्मे लादेन पर 11 सितंबर 2001 में अमेरिका के न्यूयार्क और वाशिंगटन में आतंकवादी हमले का आरोप था। वह अमेरिका के सर्वाधिक वांछित आतंकवादियों की सूची में शीर्ष पर था। सील के जवानों ने दो मई को उसे ऐबटाबाद में मार गिराया था।

Loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz