अर्थ समाचार वाणिज्य बैंक मुनाफे में

कविता दास:एनआइसी एसिया
इस बैंक के दूसरे त्रैमासिक के अनुसार मुनाफा ६५ प्रतिशत से बढÞ कर रूपये में ३८ करोडÞ ५३ लाख हुआ है । गत आर्थिक वर्षमें इसी अवधि में यह रकम २३ करोडÞ ३४ लाख थी । बैंक की खुद व्याज आमदनी ८१ प्रतिशत वृद्धि हो कर ८५ करोडÞ रूपया हुआ है । बैंक ने इससे पहले सम्भावित खतरे के लिए ७ करोडÞ ८९ लाख रूपया वापस किया है । बैंक की सञ्चालन आमदानी ४२ प्रतिशत से बढÞ कर ५२ करोडÞ ३४ लाख रूपये पहुँचा है । बैदेशिक मुद्रा बिनमय द्वारा बैंक को ६ करोडÞ १० लाख रूपये की आमदनी हर्ुइ है । बैंक ने इस बार सम्भावित खतरे के लिए ४०७ प्रतिशत से बढÞा कर १८ करोडÞ रूपैया निक्षेपित किया है । बैंक का कर्जा ७८ प्रतिशत वृद्धि हो कर ८१ अर्ब, ८३ करोडÞ, निक्षेप ७३ प्रतिशत वृद्धि हो कर ३८ अर्ब ४४ करोडÞ हुआ है ।
इसीतरह एनआईसी एसिया बैंक ने अपनी १६वीं वाषिर्क साधारण सभा विराटगर में सम्पन्न की है । उक्त सभा ने बैंक के आ.व. २०६९/७० के मुनाफे से २० प्रतिशत नगद लाभांश शेयरधारकों को वितरण करने का निर्ण्र्ाालिया है । साधारण सभा में संस्थापक शेयरधारक समूह की ओर से जगदीश प्रकाश अग्रवाल, त्रिलोकचन्द्र अग्रवाल, तुलसीराम अग्रवाल, लोकमान्य गोल्छा, रामचन्द्र संर्घाई और र्सवसाधराण सेयर धारकों की ओर से राजेन्द्रप्रसाद अर्याल, वीरेन्द्रकुमार संर्घाई और विनोदकुमार प्याकुरेल संचालक के रूप में निर्विरोध निर्वाचित हुए ।
हिमालयन बैंक
दूसरे त्रैमासिक ने हिमालयन बैंक का मुनाफा ८.८१ प्रतिशत बढÞ कर ५४ करोडÞ पहुँचा है । गत आव में उसी बैंक का नाफा ५० करोडÞ था । बैंक का सञ्चालन मुनाफा ९.५८ प्रतिशत से बढÞ कर ८५ करोडÞ ३५ लाख रूपया हुआ है । बैंक का कर्मचारी खर्च कुछ बढÞा है और सम्भावित खर्च की व्यवस्था रकम में कुछ कमी आई है । खुद व्याज आमदनी तीन प्रतिशत से बढÞ कर एक अर्ब १७ करोडÞ रूपया हुआ है । बैदेशिक मुद्रा बिनिमय के चलते आमदनी दो करोडÞ १६ लाख रूपैया हुआ है । बैंक ने इस बार सम्भावित खतरा के लिए व्यवस्था में कुछ कम रकम निवेश किया है । अर्थात् ६ प्रतिशत घटा कर १८ करोडÞ ४९ लाख रूपया इसके लिए रखा गया है । बैंक का कर्जा ४३ अर्ब ९५ करोडÞ, निक्षेप २६ प्रतिशत बढÞ कर ५९ अर्ब पहुँचा है ।
प्राइम बैंक
दूसरे त्रैमासिक में प्राइम बैंक का मुनाफा ९१ प्रतिशत वृद्धि हो कर ३१ करोडÞ रूपया पहुँचा है । गत आर्थिक वर्षकी उसी अवधि में बैंक का मुनाफा १६ करोडÞ था । बैंक को वैदेशिक मुद्रा विनिमय के चलते ५४ लाख की आमदनी हर्ुइ है । बैंक ने इस बार सम्भावित खतरे के लिए व्यवस्था में ६५ प्रतिशत से घटा कर १० करोडÞ रूपैया रखा है । बैंक का कर्जा १४.३७ प्रतिशत वृद्धि हो कर २३ अर्ब ३२ करोडÞ, निक्षेप १० प्रतिशत बढÞ कर २६ अर्ब ९४ करोडÞ हुआ है । बैंक ने रियल स्टेट कर्जा ३ अर्ब ७८ करोडÞ की लगानी की है । बैंक की चुक्ता पूँजी ९ प्रतिशत से वृद्धि हो कर दो अर्ब ५७ करोडÞ हुआ है ।
कुमारी बैंक
दूसरे त्रैमासिक में कुमारी बैंक का मुनाफा ३६ प्रतिशत से घट कर ६ करोडÞ १७ लाख रूपया में सीमित हुआ है । गत आर्थिक वर्षके इसी अवधि में बैंक का मुनाफा ९ करोडÞ ७१ लाख रूपया था । बैंक का खुद व्याज आमदनी १८ प्रतिशत घट कर ३५ करोडÞ में सिमित हुआ है । बैंक ने इससे पहले सम्भावित खतरा की व्यवस्था की लिए रखा ९८ लाख रूपया वापस किया है । बैंक का सञ्चालन मुनाफा १ से २१ प्रतिशत घट कर ८ करोडÞ रूपया  में सीमित हुआ है । बैंक को बैदेशिक मुद्रा बिनमय से ४ करोडÞ १४ लाख की आमदनी हर्ुइ है । बैंक ने इस बार सम्भावित खतरे की व्यवस्था के लिए ७ प्रतिशत से घटा कर २१ करोडÞ रूपया अलग किया है । बैंक का कर्जा निक्षेप अनुपात ७४.७९ है । अगली बार यह अनुपात ७७ का था । बैंक का कर्जा १२ प्रतिशत से बढÞ कर २१ अर्ब ५१ करोडÞ, निक्षेप १६ प्रतिशत वृद्धि हो कर २७ अर्ब ४० करोडÞ हुआ है । बैंक का रियल स्टेट कर्जा दो अर्ब १० करोडÞ की लगानी है ।
कृषि बिकास बैंक
दूसरे त्रैमासिक में कृषि विकास बैंक का मुनाफा १५ प्रतिशत से घट कर ४६ करोडÞ रूपया में सीमित हुआ है । गत आर्थिक वर्षकी इसी अवधि में बैंक का मुनाफा ५४ करोडÞ ६३ लाख रूपया था । बैंक का स्टाफ खर्च कुछ बढÞा है और सम्भावित खतरा व्यवस्थापन के लिए रकम में कुछ वृद्धि की गई है, जिसके चलते मुनाफा कम हुआ है । बैंक सञ्चालन मुनाफा ४ प्रतिशत वृद्धि हो कर ३१ करोडÞ पहुँचा है ।
खुद व्याज आमदनी १२.७३ प्रतिशत बृद्धि हो कर दो अर्ब २१ करोडÞ रूपये तक पहुँच गई है । अन्य आमदनी २३ करोडÞ, कमसिन से हर्ुइ आमदनी ११ करोडÞ है । बैंक ने इससे पहले सम्भावित खतरे की व्यवस्थापन के लिए ३४ करोडÞ रूपया वापस किया है । इस बैंक को वैदेशिक मुद्रा विनिमय से ३ करोडÞ ८० लाख आमदनी हर्ुइ है । सम्भावित खतरे के लिए १७ प्रतिशत बढÞा कर ७९ करोडÞ रूपैया अलग किया गया है । बैंक का कर्जा निक्षेप ७९ से घट कर ६९ प्रतिशत हुआ है । बैंक का कर्जा २२ प्रतिशत से बढ कर ५२ अर्ब ६९ करोडÞ, निक्षेप ४४ प्रतिशत से वृद्धि हो कर ६४ अर्ब ९६ करोडÞ हुआ है । बैंक का रियल स्टेट कर्जा ५१ करोडÞ ७ लाख और ओभरड्राफ्ट कर्जा २६ अर्ब ३० करोडÞ लगानी दिखाया गया है ।
सिभिल बैंक
दूसरे त्रैमासिक में सिभिल बैंक का मुनाफा एक प्रतिशत से बढÞ कर ३ करोडÞ ३९ लाख रूपये में सिमित है । गत आर्थिक वर्षकी उसी अवधि में बैंक का मुनाफा तीन करोडÞ ३५ लाख रूपया था । बैंक का सञ्चालन मुनाफा भी १.२८ प्रतिशत बढÞ कर ५ करोडÞ ३४ लाख रूपया हुआ है । बैंक का स्टाफिङ खर्च और सम्भावित खतरा व्यवस्थापन रकम बढÞने के कारण मुनाफे में उसका दुस्प्रभाव पडÞा है । बैंक की पुँजी कोष लागत समान है अर्थात् ७.९८ है । व्

कुछ बैंकों की मुनाफा स्थिति
बैंक     ०७० पौष मसान्त     ०६९ पौष मसान्त
नेपाल इन्भेष्टमेन्ट बैंक     ९३८८०८०००     ८९१२६५०००
सिद्धाथ बैंक     २४२५८६०००     ११६१२५०००
बैंक अफ काठमाण्डू     २५०४७४०००     ३०२६८१०००
सिटिजन बैंक     २३६४६१०००    १००९७५०००
एनएमबी बैंक     १९७७५८०००    १६५५७२०००
सेञ्चुरी कमर्शियल बैंक     ३९५३३०००    २५१६४०००
किष्ट बैंक     ९१९८८००००००     ९६९५७४००००
एनसीसी बैंक     १५९९३५०००    १५५५०००००
लक्ष्मी बैंक     १४५८२२०००     १६२२४५०००
नविल बैंक     १०५५३३७०००    १११२३२६०००
राष्ट्रिय वाणिज्य बैंक     ७१७८८१०००     ६०९९३००००
कृषि विकास बैंक     ४६००७९०००     ५४६४५००००
नेपाल बैंक     २६२२१९०००    ३९००८९०००
स्टार्न्र्डड चार्टड बैंक     ६३३३११०००    ५५८८८९०००
एभरेष्ट बैंक     ६७९११९०००    ६४२४६४०००
हिमालयन बैंक     ५४४८८८०००    ५००३८८०००
जनता बैंक     १२६५२०००    ७०७६५०००
सानिमा बैंक     १९४३६७०००     १३०५२८०००
ग्लोबल आइर्एमई बैंक     ५३२८०२०००    २४४९०६०००
लुम्बिनी बैंक     ६८६९९०००    ६२९०२०००
मेगा बैंक     १६६३६५०००     ८३८५१०००
कमर्ज एण्ड ट्रष्ट बैंक     १४४५५७०००    ४१३८६०००
एनआइसी एसिया बैंक     ३८५३५५०००    २३३४२७०००
सनराइज बैंक     २०५८३००००    १२६२९५०००
ग्राण्ड बैंक     ९४३९३०००     ८७८८१०००
प्राइम बैंक     ३१०१४६०००    १६१८१८०००
एनबी बैंक     २७११२२०००    १७१७०६०००
माछापुच्छ्रे बैंक     २०४०३८०००    ३२९६६०००
सिभिल बैंक     ३३९८३०००    ३३५५४०००
एसबीआई बैंक     ४५९०४५०००     ३८१८५६०००
कुमारी बैंक     ६१७७५०००     ९७११६०००

प्राकृतिक मदिरा
नेपाली बाजार में
बायोटेक स्प्रिस्ट नेपाल ने दो नये पेय -अल्कोहोलिक) बाजार में प्रस्तुत किया है- बायो हृविस्की और बायो भोड्का । यह दोनों नया पेय बारा जिला स्थित भवानी डिस्टिलरी इन्ड्रस्टिज में बोतलबन्द किए गए हैं । इस कम्पनीका कहना है- यह विल्कुल नये किसिम की हृविस्की और भोड्का है । जिस में उच्च गुणस्तर के पदार्थ और प्राकृतिक जडिबूटियाँ डÞाली गई हैं । जिसमें सिन्थेटिक फ्लेबर विल्कुल नहीं दिया गया है । इसे खास कर इस तरह निर्माण किया गया है कि इसके पिने वाले को कोई ‘साइडइफेक्ट’ नहीं होगा, जैसे- शिर्रदर्द और हृयागओभर -सुस्ती) ।
प्राकृतिक जडिबूटियों का प्रयोग कर बनाए गए यह पेय अनेक रोग के लिए फायदेमन्द साबित होगा, ऐसा डा. श्रीनिवास अमरनाथ का कहना है, जो एक प्रसिद्ध आयर्ुर्वेदिक चिकित्सक हैं और जिन्हे राष्ट्रपति पुरस्कार प्राप्त हुआ है । कम्पनी का दावा है कि यह पेय इन्हीं प्रसिद्ध डा. द्वारा निर्मित है । कम्पनी का एक यह भी दावा है कि प्राकृतिक जडिबूटियों से तैयार की गई यह मदिरा विश्व में अपनी किस्म की पहली है । इस में साइडइफेक्ट तो है ही नहीं, साथ ही पिने वाले को अपेक्षित स्वाद और आनन्द भी आसानी से मिल सकता है । व्

Loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz
%d bloggers like this: