आजादी मनचाही खूबसूरती पाने की :
इला श्रीवास्तव

त्वचा और बालों की देखभाल टीनएज से ही शुरूकर देनी चाहिए। प्रकृति ने हमें ऐसे उपहार दिए हैं, जिनके उपयोग से न सिर्फमारी सेहत अच्छी रह सकती है, बल्कि सौर्ंदर्य भी लंबे समय तक बरकरार रह सकता है। कुदरत की इन अनमोल चीजों से आप अपना सौर्ंदर्य कैसे निखार सकती हैं, बता रही हैं सौर्ंदर्य विशेषज्ञा सुपर्ण् त्रिखा।
सामान्य त्वचा
ऐसी त्वचा पर आकर्षा, ताजगी और लालिमा होती है। उसमें ब्लैक हेड्स या खुले रोम छिद्र नहीं पाए जाते। यह साफ-सुथरे बंद रोमछिद्र वाली होती है। यह त्वचा न ज्यादा तैलीय होती है न ही रूखी।
क्या करें
१. १-२ ट्राँबेरी का गूदा निकालकर अच्छी तरह से मसलें। फिर एक पका केला छील कर मसलें। दोनों को एक साथ मिलाकर चेहरे पर लगाएं। दस मिनट बाद चेहरा गीला करके हलके हाथों से मलें, फिर धीरे-धीरे धोएं।
२. पके हुए पपीते का दो टेबलस्पून मैश किया हुआ गूदा लें। उसमें छिला व मसला हुआ आधा सेब और थोडा आमंड आँयल मिलाएं। चेहरे पर लगाएं और दस मिनट के लिए छोड दें। हलके गुनगुने पानी से चेहरा साफकरें।
तैलीय त्वचा
तैलीय त्वचा चिकनी और चमकदार लगती है। इस पर मुंहासे और ब्लैक हेड्स जल्दी निकलते हैं। ऐसी त्वचा पर खुले और बडे रोमछिद्र आसानी से नजर आ जाते हैं। ऐसी त्वचा पर मेकअप अधिक देर तक नहीं टिकता।
क्या करें
१. अपने चेहरे व गर्दन को दिन में तीन बार साफकरें। सिबेसिअस ग्लैंड से निकलने वाले तेल को नियंत्रित करने के लिए चेहरे को दिन में तीन बार साफकरें। नाक, गाल व माथे पर विशेष ध्यान दें क्योंकि इन जगहों में चिकनापन ज्यादा नजर आता है।
२. एक टेबलस्पून मुल्तानी मिट्टी, एक टेबलस्पून ओट मील व आधा टीस्पून आमंड पेस्ट मिलाकर पेस्ट बना लें। यह तैलीय त्वचा को साफ करने के लिए बेहतरीन क्लींजर है।
३. एक अंडे की सफेदी को फेंट कर आंखों का हिस्सा छोडकर चेहरे पर लगाएं। दस मिनट बाद चेहरा ठंडे पानी से धो लें। यह मास्क त्वचा में खिंचाव लाता है और त्वचा के खुले छिद्रों को बंद करता है।
रूखी त्वचा
रूखी त्वचा पर खिंचाव महसूस होता है। यह त्वचा पतली होती है, जिसके छिद्र हलके नजर आते हैं। इस त्वचा में जलन, खुजलाहट और पपडियां उतरने की आशंका ज्यादा रहती है। मौसम का प्रभाव भी सबसे पहले इसी त्वचा पर पडता है। ऐसी त्वचा की उचित देखभाल न की जाए तो झर्ुर्रियां जल्दी ही नजर आने लगती हैं।
क्या करें
ऐसी त्वचा को हाइड्रेशन और सुरक्षा प्रदान करने के लिए एलोवेरा के गूदे को मसल करके उसमें एक चम्मच शहद और एक चम्मच फेंटी हर्ुइ क्रीम मिलाएं या घर पर बना दही मिलाएं। पैक को चेहरे और गर्दन पर लगाकर दस मिनट के लिए छोड दें, फिर ताजे पानी से चेहरा साफ कर लें। एलोवेरा में त्वचा को पोषण प्रदान करने के लिए जरूरी विटमिन ए, बी, डी और्रर् इ होते हैं। अगर आप इस मास्क में शहद मिलाती हैं तो यह त्वचा की नमी को बरकरार रखने का काम करता है। हृनदो टेबलस्पून आडू को मसल कर उसमें दो टीस्पून शहद और एक टीस्पून आमंड आँयल मिलाएं। इस पेस्ट को चेहरे पर लगाकर दस-पंद्रह मिनट के लिए छोड दें। फिर गुनगुने पानी से चेहरा साफ कर लें। आडू में विटमिन ए प्रचुर मात्रा में होता है, जो रूखी त्वचा को पोषण देने के साथ-साथ कोमल व आकर्ष बनाता है। हृनएक पका केला छीलकर मसल लें। फिर चेहरे पर लगाकर दस मिनट के लिए छोड दें। चेहरा धोने से पहले ठंडा पानी हाथ में लेकर चेहरे को हलके हाथों से मलें फिर धीरे-धीरे धोएं। केले में अमीनो एसिड, विटमिन और मिनरल जैसे- आयरन, मैग्नीशियम होते हैं, जो त्वचा को पोषण देने के साथ-साथ उसे कोमल बनाते हैं।
मुक्ति झर्ुर्रियों से
उम्र बढÞने के साथ-साथ त्वचा में कोलोजन एवं इलास्टिन नामक प्रोटीन की मात्रा लगातार कम होती जाती है। जिसके कारण त्वचा की कांति और नमी ख्ात्म होती जाती है। उस पर झर्ुर्रियां पडने लगती हैं। ऐसा असमय न हो इसके लिए यहां दिए गए उपायों को अपनाएं।
क्या करें
१. झर्ुर्रियों से बचने के लिए ताजे फलों और सब्जियों का पर्याप्त सेवन करें। ताकि आपको विटामिन एर्,र् इ, बी और सी मिल सके। विटामिनर् इ और सी कोशिकाओं के विकास को बढाते हैं और त्वचा पर कुदरती तेल प्रदान करने में मदद करते हैं, जिससे त्वचा में कसाव और चमक रहती है।
२. धूम्रपान त्वचा के लिए नुकसानदेह होता है। यह त्वचा के टिश्यू को नष्ट करता है और उनके बनने की प्रक्रिया में भी बाधा डालता है। इस कारण त्वचा में ढीलापन आने लगता है और लकीरें बनने की प्रक्रिया तेज हो जाती है। अगर आप लंबे समय तक जवां रहना चाहती हैं तो धूम्रपान को त्यागना होगा।
३. तनाव भी चेहरे पर हर पल की लकीरें पैदा करने का काम करता है। इसे कम करने के लिए योग या ध्यान करें।
४. त्वचा की देखभाल संबंधी जितने भी प्रोडक्ट्स आप इस्तेमाल करती हैं, उनमें इस बात का ध्यान रखें कि कोई भी ऐसा तत्व न मौजूद हो जो त्वचा में जलन या परेशानी पैदा करे। जैसे मेंथाँल, लेमनग्रास, लाइम, लैवेंडर प|mैगरेंस और बोटैनिकल आँयल या तत्वों से बचें।
५. र्सर्ूय की अल्ट्रावायलट किरणें त्वचा में झर्ुर्रियों को आने में सहायक होती हैं। इसलिए र्सर्ूय के सर्ंपर्क में आने से पहले सनस्क्रीन क्रीम या सनब्लाँक जरूरी लगाएं।
६. अपने वजन पर नियंत्रण रखें। बार-बार वजन के घटने और बढÞने से भी त्वचा पर उम्र के निशान जल्दी ही नजर आते हैं। इसलिए फेशियल एक्सरसाइज करें। इससे त्वचा पर कसाव बना रहेगा।
७. झर्ुर्रियों पर अल्फा-हाइड्राँक्सी क्लींजर व लोशन लगाएं। धीरे-धीरे कम हो जाएंगी।
८. रात में सोने से पहले एलोवेरा या विटामिनर् इ युक्त नरिशिंग क्रीम या नाइट क्रीम लगाएं।
९. २ टी स्पून मिल्क पाउडर में ४-५ धागे केसर, १/२ टीस्पून शहद, थोडा सा ठंडा दूध, ३-४ बूंद लेमन एसेंशियल आँयल मिलाकर पैक बनाएं। इसे चेहरे व गर्दन पर लगाएं। १५ मिनट बाद दूध से साफ कर लें।
छुटकारा मुंहासों से
मुंहासे त्वचा की एक ऐसी बीमारी है, जिसमें चेहरे पर दर्दनाक लाल रंग के दाने निकल आते हैं। हमारी त्वचा तेलस्श्राव करती है, जो कि तेल ग्रंथियों द्वारा होता है। यह तेल त्वचा को मुलायम रखता है और उसे कीटाणुओं से भी बचाता है। किशोरावस्था में अत्यधिक तेलस्श्राव के कारण तेल ग्रंथियों का मुंह बंद हो जाता है और त्वचा के नीचे तेल एकत्रित होने लगता है। इस वजह से कीटाणु हमारी त्वचा पर वार कर देते हैं और तेल ग्रंथियों के मुंह के पास दर्दनाक दाने यानी मुंहासे जन्म लेते हैं। मुंहासों की समस्या किशोरावस्था में ज्यादा पाई जाती है।
क्या करें
१. चेहरे को दिन में दो-तीन बार ठंडे या गुनगुने पानी से धोएं।
२. शहद में अखरोट का पाउडर मिलाकर प्रभावितःथान पर लगाएं। यह मृत त्वचा को हटाकर बंद छिद्रों को खोलने में मदद करेगा।
३. चम्मच पुदीने के पत्तों के रस में ज्ञ चम्मच नीम और तुलसी के पत्तों का रस मिलाएं। साथ ही १/२ चम्मच कपूर पाउडर मिलाकर चेहरे पर लगाएं। हलका सूखने पर गोलाई में घुमाते हुए चेहरा साफ करें।
४. १ चम्मच कलौंजी को आधा घंटे के लिए पानी में भिगो दें। फिर गाढा-गाढा पीस कर प्रभावितस्थान पर लगाएं। सूखने पर धो लें।

Loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz