आज का राशिफल -30 जुलाई 2016

मेष(चु, चे, चो, ला, लि, लु, ले, लो, अ (Aries))
नया परिचय भविष्य में आपके लिए हितकारी रहेगा। कार्य के प्रति समर्पण व परिश्रम आवश्यक है। कार्य व्यवसाय की गति उत्तम होगी।

वृष(इ, उ, ए, ओ, बा, बि, बु, बे, बो (Taurus))
लाभकारी प्रेरणाएं मिलेंगी। सकारात्मक विचारों में वृद्धि होगी। यात्रा में सावधानी रखना चाहिए। क्रोध पर नियंत्रण रखें।

 मिथुन( का, कि, कु, घ, ङ, छ, के, को, ह (Gemini))
आज विशेष लाभ होने की संभावना है। पराक्रम बढ़ेगा। संतान की ओर से सुखद स्थिति बनेगी। दुस्साहस नहीं करें। कानूनी काम होंगे।

कर्क(हि, हु, हे, हो, डा, डि, डु, डे, डो (Cancer))
आजीविका के क्षेत्र में प्रगति के अवसरों के कारण आर्थिक निवेश बढ़ेगा। प्रतिस्पर्धा में आपकी विजय होगी। स्वाध्याय में रुचि रहेगी।

सिंह(मा, मि, मु, मे, मो, टा, टि, टु, टे (Leo))
परिवार की समस्या से तनाव हो सकता है। विवाद को हल करने का साहस आएगा। शत्रुओं पर विजय प्राप्ति का योग है। संतान की प्रगति होगी।

 कन्या(टो, प, पि, पु, ष, ण, ठ, पे, पो (Virgo))
सामाजिक मांगलिक कामों से प्रतिष्ठा बढ़ेगी। मित्रों, भाइयों की मदद से लाभ होगा। धन-संपत्ति के मामले सुलझेंगे। योजनाएं फलीभूत होंगी।

तुला(र, रि, रु, रे, रो, ता, ति, तु, ते (Libra))
व्यापार-व्यवसाय में श्रेष्ठ योग बनेंगे। आर्थिक कामों में आने वाली बाधाएं दूर होंगी। आलस्य बिलकुल नहीं करें। जरूरी वस्तु क्रय करेंगे।

वृश्चिक(तो, ना, नि, नु, ने, नो, या, यि, यु (Scorpio))
उत्साह व प्रयास आपके लिए सफलता प्रदान करेंगे। गृहस्थ जीवन का पूर्ण सहयोग मिलेगा। वाहन सावधानी से चलाएं। विरोधी नुकसान पहुँचाएंगे।
धनु(ये, यो, भ, भि, भु, ध, फा, ढ, भे (Sagittarius))
व्यापार-व्यवसाय अच्छा चलेगा। सरकारी कार्यों से लाभ होने के योग बनेंगे। शुभ कार्यों की अधिकता आपके लिए हितकर रह सकेगी।
मकर(भो, ज, जि, खि, खु, खे, खो, गा, गि (Capricorn))
संघर्ष के कारण आपका अनुमान ठीक नहीं निकलेगा। सामाजिक कार्यों में सीमित रहें। आर्थिक हानि का योग है। व्यर्थ समय नष्ट न करें।

कुंभ(गु, गे, गो, सा, सि, सु, से, सो, द (Aquarius))
धन की प्राप्ति के साथ प्रसिद्धिकारक योग भी बनेंगे। संतान के व्यवहार से कष्ट होगा। मकान की समस्या का हल निकलेगा। रुका पैसा मिलेगा।

 मीन(दि, दु, थ, झ, ञ, दे, दो, च, चि (Pisces))
संतान की ओर से प्रगतिकारक सूचना मिलेगी। आपके कार्य की वृत्ति व्यावहारिक होने के साथ मानसिक श्रम प्रधान होना चाहिए। सावधानी व सतर्कता रखकर काम करें।

स्रोत :webduniya

loading...