आर्थिक समृद्धि के लिए निर्यात को बढावा देना होगा

श्रावण २९ , काठमान्डू  ।  वाणिज्य मंत्री  मीनबहादुर विश्वकर्मा ने कहा कि मुल्क के आर्थिक समृद्धि के लिए निर्यात सामग्रीयों को बढाना होगा  । नेपाल गलैंचा निकासीकर्ता सङ्घ के १२ वीं  साधारण सभा को शुक्रवार उद्घाटन करते हुए मंत्री  विश्वकर्मा ने कहा कि नेपाल में उत्पादित वस्तु को विश्व बजार में निर्यात को बढाने से ही नेपाल के व्यापार में नुक्सान कम  होंगें । और उन्होंने यह भी कहा कि मुलुक के आर्थिक समृद्धि के लिए व्यवसायों को बढाना होगा साथही व्यवसायों को बढाने के लिए मन्त्रालय नीतिगत निर्णय करने के लिए भी तैयार हैं ।
    नेपाल उद्योग वाणिज्य महासङ्घ के उपाध्यक्ष चन्द्रप्रसाद ढकाल ने कहा कि आयात करने से ज्यादा निर्यातों को बढावा देने से ही मुलुक के विकास  हो सकते हैं । नेपाल उद्योग परिसङ्घ के अध्यक्ष हरिभक्त शर्मा ने कहा कि नेपाल के व्यापार बढाने के लिए पुरानी ऐन कानूनों को खारिज करके नई कानून को निर्माण करना होगा ।
       सन् १९९३ में  विश्व बजार में  ११ अर्ब बराबर  के नेपाली गलैंचा निर्यात होते थे लेकिन सन् २०१७  में  आने पर भी  जम्मा ७ अर्ब के हाराहारी में सिर्फ़ गलैंचा निर्यात होने की जानकारी सङ्घ के  अध्यक्ष अनुपबहादुर मल्ल ने दी  । नेपाल में  उत्पादित गलैँचा पहले अमेरिका और यूरोप में बहुत निर्यात होते थे लेकिन अभी उत्पादन के कुल ३० %  चीन में निर्यात होने की जानकारी संघ ने दी हैं ।
     साधारण सभा द्वारा रामबहादुर गुरुङ के अध्यक्षता में नई कार्य समिति की चयन की गई हैं  । सङ्घ के वरिष्ठ उपाध्यक्ष दीपक बज्राचार्य, प्रथम उपाध्यक्ष प्रमोदराज सत्याल, द्वितीय उपाध्यक्ष समीरविक्रम शाह, तृतीय उपाध्यक्ष दावा शेर्र्पा, महासचिवमा तेञ्जिङ शेर्पा, कोषाध्यक्ष दानबहादुर चन्द और सहकोषाध्यक्ष में  निदेश अधिकारी चयन हुई हैं  । इसी तरह  बलराम गुरुङ, मनोज अमात्य और देवनन्द सराबगीको सचिव में तथा नर्वु लामा, छेवाङ लामा, रामगोपाल घिमिरे, महेश अर्याल, मानकुमार तामाङ, राजेन्द्रकृष्ण जोशी और  सांगेल शेर्पा सदस्य में चयन हुए हैं  ।
loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz