इटली भूकम्प में मरने वालों की संख्या २५० से अधिक

italy-earthquake_14721027

 

रोम, इटली में बुधवार को आए 6.2 तीव्रता वाले भूकंप से मरने वालों का आंकड़ा 250 हो गया है। कई लोग अब भी लापता हैं। रात भर लोगों को मलबे से निकालने का काम जारी रहा। बता दें सेंट्रल इटली के 6 शहर बुरी तरह प्रभावित हैं। कई छोटे कस्बों में अभी राहत नहीं पहुंची है। 17 घंटे बाद मलबे से 10 साल की एक लड़की को जिंदा निकाला गया। ये घटना पेस्कारा देल रोंतो कस्बे की है, जो मलबे में तब्दील हो गया है।

– पेस्कारा देल रोंतो कस्बे में रेस्क्यू में जुटी टीम ने जैसे ही देखा कि मलबे में दबी लड़की जिंदा है, तुरंत उसे निकालने में जुट गई। हैरान करने वाली बात ये है कि उसे कोई चोट नहीं आई।

– रेस्क्यू में शामिल एस्कोली पिसेनो के फायरफाइटर डैनिलो डियोनिसी ने कहा- “मलबे से लड़की का जिंदा निकलना खुशी की बात है। वो भी तब जब पूरा का पूरा कस्बा ही साफ हो गया हो।”

– इटली के सिटिजन सिक्युरिटी डिपार्टमेंट के मुताबिक, ”जगह-जगह मलबा दिखाई दे रहा है। लोगों ने राहत कैम्प, घर के बाहर और सड़कों पर रात गुजारी। अभी कुछ इलाकों में राहत नहीं पहुंच पाई है।”

– “आर्मी, एल्पाइन क्रू, फायरफाइटर्स, रेड क्रॉस क्रू और वॉलन्टियर्स की कई टीमें राहत और बचाव में जुटी हुई हैं। लेकिन फिर भी ये काफी नहीं है।”

– बता दें कि बुधवार की सुबह भूकंप स्थानीय समयानुसार, करीब 3 बजकर 30 मिनट पर आया था।

– एक पीड़ित ने बताया- “मैं बाल-बाल बच गई। मेरे कमरे की छत मेरे ऊपर गिर गई। मैंने तकिया अपने सिर पर रख लिया।”

– एक महिला ने कहा- “हम पूरी रात से घर के बाहर बैठे हैं। मुझे नहीं पता, मेरी फैमिली के लोग कहां हैं।”

200 आफ्टर शॉक्स आए

– भूकंप करीब 20 सेकंड तक महसूस किया गया। इसके बाद 200 आफ्टर शॉक्स महसूस किए गए। इनमें से कुछ 5.2 तीव्रता वाले थे।

– पेस्कारा देल रोंतो गांव मलबे में तब्दील हो गया है। वहीं एक्यूमोली, एमाट्रिस, इन लाजियो, पेस्कारा देल रोंतो, इन मार्श और आरक्वाटा दे ट्रोन्टो करीब-करीब आधे बर्बाद हो गए है।

– यूनाइटेड स्टेट्स जियोलॉजिकल सर्वे के मुताबिक, इसका एपिसेंटर पेरुगिया प्रोविन्स के नॉर्सिया शहर के पास 10 किमी जमीन के नीचे था।

– बता दें पिछले 700 सालों में इस रीजन में 6 बड़े भूकंप आ चुके हैं। इनमें 1700 AD का 6.0 का भूकंप भी शामिल है। इसमें 10 हजार लोग मारे गए थे।

– 28 दिसंबर 1908 को सदर्न इटली और सिसली में 7.1 तीव्रता का भूकंप आया था। इसमें 80 हजार लोग मारे गए थे। इसमें सबसे ज्यादा नुकसान सिसली आइलैंड और रैगियो कैलेब्रिया शहर में हुआ था।

– 2009 में आए 6.3 तीव्रता के भूकंप में 300 लोगों की मौत हो गई थी।

आधा तबाह हो गया एमाट्रिस शहर

– एमाट्रिस के मेयर सरज़ो पिरोजी ने बताया- “रेस्क्यू टीम मलबे में फंसे लोगों को निकालने में लगी है।”

– “मलबे से लोगों को निकालने में दिक्कत आ रही है। ज्यादा समय तक फंसे रहने से कई घायलों की मौत हो सकती है। मरने वालों की संख्या बढ़ सकती है।

– “एमाट्रिस टाउन तबाह हो गया है। शहर को जोड़ने वाली सभी सड़कें तबाह हो गई हैं। कई लोग मलबे में दबे हुए हैं। लैंडस्लाइड भी हुआ है और एक ब्रिज किसी भी वक्त गिर सकता है।”

साभार, दैनिक भास्कर

 

Loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz
%d bloggers like this: