इन खबरों के लिए याद रहेगा साल २०११

साल २०११ गुजर गया है। यह साल कई मायनों में आधुनिक मानव सभ्यता के इतिहास में खास रह गया। भारत में अन्ना की अगस्त क्रांति ने लोकतंत्र को नए मायने दिए तो मिस्त्र में कई दशकों से सत्ता पर काबिज होस्नी मुबारक को जनता के व्रि्रोह के बाद कर्ुर्सर्ीीोडÞनी पडÞी।
इसी साल दस साल से अमेरिका की नाक में दम कर रहा अल कायदा सरगना ओसामा बिन लादेन मारा गया। चार दशकों से लीबिया में तानाशाही चला रहे मुअम्मार गद्दाफी भी व्रि्रोहियों के हाथों मारे गए। विश्वकप क्रिकेट पर भारत ने कब्जा किया वहीं विरेंद्र सहवाग ने दोहरा शतक जडÞ कर अपने नाम वनडे क्रिकेट का र्सवाधिक व्यक्तिगत स्कोर भी कर लिया। क्रांतियों के इस साल में कुदरत ने भी इंसान को अपनी ताकत का अहसास कराया।
जापान में धरती के कांपनी से उठी सुनामी ने पूरी दुनिया को खौफजदा कर दिया। पहली बार लोगों ने टीवी पर सुनामी को लाइव देखा तो सिक्किम में आए विनाशकारी भूकंप ने जिंदगी को चट्टानों में दबा दिया। साल २०११ में ही सात अरब के पार हर्ुइ दुनिया की आबादी ने मानव सभ्यता के सामने अपने वजूद को बचाए रखने के लिए गंभीर सवाल भी छोडÞ। इसी साल ‘एप्पल’ के जरिए दुनिया के आधुनिकरण में अहम योगदान देने वाले स्टीव जाँब्स भी दुनिया को अलविदा कह गए।
मारा गया लादेन
दुनिया का सबसे कुख्यात आतंकवादी और अलकायदा का सरगना ओसामा बिन लादेन इस साल २ मई को अमेरिकी आँपरेशन में मारा गया। पाकिस्तान की राजधानी इस्लामाबाद के उत्तर में मौजूद ऐबटाबाद में अमेरिकी कार्रवाई में लादेन के साथ तीन और लोग मारे गए। मारे गए लोगों में एक ओसामा बिन लादेन का बेटा भी था। अमेरिकी अधिकारियों ने बताया कि मारे जाने के बाद लादेन की लाश को समुद्र में दफनाकर उसका नामोनिशान तक मिटा दिया।
जापान में तबाही
बीते ११ मार्च को जापान में समुद्र में भूकंप के बाद आई सूनामी ने तबाही मचा दी थी। इस तबाही में १२ हजार से ज्यादा लोग मारे गए थे जबकि कई लोगों का आज तक पता नहीं चला। रिक्टर पैमाने पर ८.९ की तीव्रता वाले भूकंप के बाद उठी घघ फुट ऊंची सूनामी के कारण भारी तबाही हर्ुइ थी। सूनामी की वजह से फुकुशिमा में मौजूद परमाणु संयंत्र में विकिरण शुरू हो गया था, जिसकी चपेट में कई लोग आ गए थे। लेकिन फुकुशिमा में विकिरण के हादसे के बाद भारत समेत कई देशों में परमाणु प्लांट लगाने पर नए सिरे से बहस शुरू हो गई है।
मारा गया गद्दाफी
लीबिया के पर्ूव शासक कर्नल मुअम्मर गद्दाफी को व्रि्रोही सेनाओं ने २० अक्टूबर को मार गिराया था। गद्दाफी के दोनों पैरों एवं सिर में गोली लगी थी। लगभग चार दशकों तक लीबिया के शासक टढ वषर्ीय गद्दाफी मरने से पहले सैनिक यूनीफार्म पहनकर एक गाडÞी में बैठकर भागने की कोशिश कर रहा था। लेकिन नाटो के हवाई हमले में वह घायल हो गया। उसके समूह और व्रि्रोही सेना के बीच काफी देर तक फायरिंग हर्ुइ। इस दौरान दोनों पैरों एवं सिर में गोली लगने की वजह से गद्दाफी की मौत हो गई। गद्दाफी की मौत से जुड वीडियो में व्रि्रोही उसकी पिर्टाई कर रहे थे।
 अन्ना का अगस्त आंदोलन
मजबूत लोकपाल कानून की मांग करते हुए अन्ना हजारे ने पहले ज्ञट अगस्त से तिहाडÞ और २० अगस्त से रामलीला मैदान में अनशन किया। अनशन के दौरान अन्ना के र्समर्थन में हजारों लोग रामलीला मैदान पहुंचे। २७ अगस्त को अन्ना की तीन मांगों को लोकपाल बिल में शामिल करने के लिए लोकसभा ने प्रस्ताव पारित किया। संसद ने एक सुर में अन्ना को सलाम कर उनसे अनशन तोडÞने की अपील की थी। सरकार ने भी अन्ना को भरोसा दिलाया था कि शीतकालीन सत्र में मजबूत लोकपाल कानून बनाया जाएगा। इसके बाद २८ अगस्त को अन्ना ने अनशन तोडÞा था।
 म्रि्र में हुस्ने मुबारक ने छोड सत्ता
इस साल अरब जगत में जनक्रांति के पहले शिकार बने थे म्रि्र के राष्ट्रपति हुस्ने मुबारक। घण् साल तक म्रि्र की सत्ता पर काबिज रहे हुस्ने मुबारक ने ११ फरवरी को राष्ट्रपति पद से इस्तीफा देते हुए सत्ता सेना को सौंप दी थी। म्रि्र में कई हफ्तों तक चले आंदोलन के बाद मुबारक सत्ता छोडÞने पर मजबूर हुए थे। म्रि्र का ‘तहरीर चौक’ उनके खिलाफ जनता के आक्रोश का प्रतीक बन गया था।
 सिक्किम में भूकंप
इस साल १९ सितंबर को सिक्किम में रिक्टर स्केल पर ६.९ की तीव्रता वाले जोरदार भूकंप में सवा सौ लोग मारे गए थे। भूकंप में अकेले सिक्किम में एक लाख से ज्यादा घर तबाह हो गए थे। भूकंप का असर सिक्किम के अलावा पश्चिम बंगाल, बिहार, उत्तर प्रदेश में भी महसूस किया गया था। इस भूकंप का असर नेपाल में भी हुआ था।
 स्टीव जाँब्स की मौतSteveJobs_himalini
आईपाँड, आईफोन और आई पैड बनाने वाले एपल के सह संस्थापक स्टीव जाँब्स ने इस साल छ अक्टूबर को आखिरी सांस ली। महज छट साल की उम्र में जाँब्स ने कैलिफार्ँर्निया में मौजूद घर में पैंक्रियाटिक कैंसर से लडÞते-लडÞते दुनिया को अलविदा कह दिया। अपने प्राँडक्ट्स के जरिए स्टीव लोगों के दिलों में राज करते रहेंगे।
 भारत की आबादी १.२१ अरब
इस साल ३१ मार्च को जारी आंकडÞों के मुताबिक भारत की आबादी ज्ञड। ज्ञ करोडÞ बढÞकर १.२१ अरब हो गई। २०११ की जनगणना में जो आंकडÞे सामने आए उनके मुताबिक देश में ६२ करोडÞ ३७ लाख पुरुष और छड करोडÞ ६५ लाख महिलाएं हैं।

Loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz