इराक के मोसुल में मकबरे के नीचे 2600 साल पुराना प्राचीन महल मिला

लंदन (आइएएनएस)। इराक के मोसुल में पुरातत्वविदों को पैगंबर जोनाह के मकबरे के नीचे प्राचीन महल मिला है। यह 2600 साल पुराना बताया जा रहा है। इसकी खोज इस्लामिक स्टेट (आइएस) आतंकियों द्वारा मकबरे को पहुंचाए गए नुकसान के आकलन के दौरान हुई। माना जा रहा है कि इस महल का निर्माण 600 ईसा पूर्व किया गया था।

टेलीग्राफ की रिपोर्ट के अनुसार, अभी तक महल अछूता रहा था। यह मकबरे के खंडहर के नीचे दबा था। इसे मुस्लिम और ईसाई जोनाह की कब्र मानते हैं। इसे आइएस आतंकियों ने जुलाई 2014 में ध्वस्त कर दिया था। यह मकबरा पूर्वी मोसुल की एक पहाड़ी पर स्थित है। इस इलाके को पिछले महीने इराकी बलों ने आइएस से मुक्त कराया था। आतंकियों ने मकबरे के नीचे गहरी सुरंगें बना रखी थीं।

हालांकि सुरंगों की हालत अच्छी नहीं है। ये लगातार ढह रही हैं। इससे प्राचीन महल के दबने का खतरा पैदा हो गया है। पुरातत्वविद लैला सलीह ने बताया कि सम्राट इसारहद्दोन ने महल का पुनर्निर्माण और विस्तार कराया था। इसका कुछ हिस्सा 612 ईसा पूर्व नीनवे की लड़ाई में ध्वस्त हो गया था।

 

Loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

avatar
  Subscribe  
Notify of
%d bloggers like this: