Sun. Sep 23rd, 2018

उपराष्ट्रपति पुन क्रिस्चियन धर्म प्रचार में !?

दोलखा, ३ मई । उपराष्ट्रपति नन्दबहादुर पुन को प्रयोग कर एक संस्था ने क्रिश्चियन धर्म को प्रचार–प्रसार किया है । विद्यालय भवन निर्माण के लिए आर्थिक सहयोग करनेवाले ‘दयाका हातहरु’ (सहयोगी हाथ) नामक संस्था ने उपराष्ट्रपति पुन के हाथों बुधबार बाइबल बितरण किया है । यह समाचार दोलखा जिला शैलुङ गांवपालिका स्थित शारदमा माध्यमिक विद्यालय का है । भवन उद्घाटन के लिए पहुँचे थे– उपराष्ट्रपति नन्दबहादुर पुन । कार्यक्रम के दौरान आयोजक संस्था ‘सहयोगी हाथ’ ने उपराष्ट्रति के हाथों धर्म प्रचार का सामाग्री वितरण किया ।  लेकिन उपराष्ट्रपति पुन का नियत के कारण नहीं, आयोजक संस्था की गडबड़ी कारण ऐसा हो गया है ।
कार्यतालिका से बाहर जा कर जब आयोजक ने बाल–बालिकाओं को धर्म प्रचार संबंधी प्रचार सामग्री वितरण किया, उसके वाद उहां विवाद उत्पन्न होने लगा । उपहार के नाम में बाइबल वितरण का काम रोकने लिए निर्देशन ही देना पड़ा था । बाइबल वितरण से पूर्व आयोजक संस्था के अध्यक्ष बेनीबहादुर कार्की ने कहा– ‘वार्ड नं. ८ निवासी सभी विद्यार्थियों को शैक्षिक सामग्री वितरण होने जा रहा है, सभी विद्यार्थी इकठ्ठा हो जाएं । उसके बाद विद्यार्थी मञ्च के सामने आ गए थे ।
उस वक्त उपराष्ट्रपति के सुरक्षाकर्मी ने कहा था कि शैक्षिक सामग्री वितरण का कार्यतालिका नहीं है, इसको हटाना चाहिए । लेकिन आयोजक ने अस्वीकार किया और वितरण शुरु किया । जब बालबालिकाओं ने वितरित सामाग्री खोलकर देखा तो वहां कपी और पेन के साथ–साथ बाइबल संबंधी अन्य समाग्री भी मिल गया । उसके बाद शैलुङ गांवपालिका के अध्यक्ष भरत दुलाल ने तत्काल उपहार वितरण कार्यक्रम रोकने के लिए निर्देशन दिया । कुछ देर के विवाद बाद आयोजक संस्था ‘सहयोगी हाथ’ उपहार वितरण रोकने के लिए बाध्य हो गया । अध्यक्ष दुलाल ने कहा कि आयोजक संस्था अन्य विद्यालयों में भी बाइबल सामाग्री वितरण की तैयारी में है, ऐसी सूचना आ रही है ।
स्मरणीय है, सिंगापुर रेडक्रस का सहयोग और ‘सहयोगी हाथ’ के पहल में २ करोड, ५० लाख रुपयां की लागत में उक्त विद्यालय भवन का निर्माण हुआ है ।

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of