एक शराबी तीसरी मंजिल से नीचे गिर गया

एक शराबी तीसरी मंजिल से नीचे गिर गया, चारों तरफ भीड इकी हो गयी।
लोगों ने शराबी से पूछा- क्या हुआ –
शराबी- पता नहीं मैं भी अभी आया हूं।

संता -बंता से)- जब मैं छोटा था तब कुतुबमीनार से गिर गया था।
बंता -संता से)- फिर तू मर गया कि बच गया –
संता- मुझे याद नहीं क्योंकि तब मैं बहुत छोटा था।

पिताजी -पुत्र से)- इतने कम नंबर – दो थप्पडÞ मारने चाहिए !
पुत्र -पिता से)- हां पापा, चलो मैंने उस मास्टर जी का घर देखा हुआ है !

पति -पत्नी से)- क्या शादी से पहले तुम्हारा कोई ब्वाँयप|ड था।
पत्नी -पति से)- सुनकर खामोश हो गयी।
पति- इस खामोशी को मैं क्या समझूं।।
पत्नी- अरे मुझे गिनने तो दो।

सुधा -मनोज से)- सुनो जी, डाँक्टर ने मुझे एक महीने के आराम के लिए किसी हिल स्टेशन पर जाने को कहा है, हम कहा जाएंगे –
मनोज -सुधा से)- दूसरे डाँक्टर के पास।

अध्यापिका -छात्र से)- ऐसा कौन सा जानवर है जो सबसे ज्यादा अंडे देता है –
छात्र- मैडम, हमारे गणित वाले सर। मेरी काँपी में उन्होंने शुरु से अंत तक अंडे ही अंडे दिए हैं।

Loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz