एनेकपा माओवादी का सातवां महाधिवेशन

गोविन्द न्यौपाने:हेटौडा । हाल ही में हेटौडा में नेकपा एमाओवादी का सातवां महाधिवेशन सम्पन्न हुआ । प्रचण्ड की ही अध्यक्षता में नई कार्य समिति बनी । इस ने आर्थिक क्रान्ति और प्रधानन्यायाधीश के नेतृत्व में चुनाव सम्पन्न करने का प्रस्ताव आगे बढाया । कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि प्रधानमन्त्री डा. बाबुराम भट्टर्राई ने पार्टर्ीीध्यक्ष प्रचण्ड के नेतृत्व में ही देश को नयी दिशा मिलेगी, ऐसा स्वीकार किया ।
हेटौडा कपडा उद्योग लम्बे समय से बन्द था । इसे पुनः सञ्चालित करने के उद्देश्य से ही उसी उद्योग परिसर में महाधिवेशन सम्पन्न किया गया । खण्डहर बने उद्योग को सजने-संवरने का मौका मिला । २१ वषार्ंर्ेेे बाद खुलेआम रुप में आयोजित एनेकपा एमाओवादी का यह सातवां महाधिवेशन भव्य और शान्तिपर्ूण्ा रहा । उस अवधि में मकवानपुर की सुरक्षा व्यवस्था कडÞी की गई थी और मदिरापन पर नियन्त्रण लगाया गया था । लेकिन इस अवधि में विपक्षी दलों का विरोध पर््रदर्शन भी जारी रहा । और विपक्षी दलों के शर्ीष्ा नेता गण भी हेटौडा में दिखाई दिए । महाधिवेशन के दूसरे रोज पर्ूवराजा ज्ञानेन्द्र शाह और उनकी रानी कोमल राज्यलक्ष्मी शाह जन्म दिन मनाने के लिए हेटौडा होते हुए सिमरा की ओर गए थे । उसी तरह राप्रपा नेपाल के अध्यक्ष कमल थापा ने सिडियो कार्यालय में धर्ना कार्यक्रम रखा । नेकपा-माओवादी का भी सिडियो कार्यालय में धर्ना, नेपाल बन्द, प्रधानमन्त्री और न्यायाधीश का पुतला जलाना जैसे कार्यक्रम चलते रहे ।
लेकिन महाधिवेशन अवधि में पार्टर्ीीे प्रवक्ता अग्नि सापकोटा ने दैनिक दो बार सूचना केन्द्र में आकर मीडिया को बन्दसत्र की सूचनाएं प्रवाहित कीं । इसी अवसर का लाभ उठाते हुए हेटौडा स्थित कुछ संघ-संस्था ने अपना उद्घाटन भी करवाया । अर्थमन्त्री वर्षान पुन के हाथों हेटौडा के स्कुल रोड स्थित सहकारी संस्था का उद्घाटन हुआ । उसी क्रम में प्रधानमन्त्री डा. बाबुराम भट्टर्राई परिवार सहित मकवानपुर के हाँडिखोला क्षेत्र स्थित एक बनकरिया के घर में रात बिताने पहुँचे । साथ ही डा. बाबुराम भट्टर्राई द्वारा सडÞक को २५ मिटर चौडÞा करने की योजना हेटौडा में शुरु हो चुकी है । इसे स्थानीयबासियों ने उपलब्धिमूलक माना है । लेकिन उचित मुआब्जा मिलेगा या नहीं, इस बारे में लोगों में संशय है ।
युद्धकाल में घायल लोग राहत के रुप में कुछ सहयोग पाने की आश में वहाँ पहुँचे थे । खैर, एनेकपा माओवादी का सातवां राष्ट्रिय महाधिवेशन के उद्घाटन क्रम में नागरिक समाज के रहनुमा दमननाथ ढुंगाना ने प्रचण्ड के नेतृत्व में ही देश आगे बढेगा, ऐसा कहा । उसी तरह नागरिक समाज के नेता सुन्दरमणि दीक्षित ने भी उसी बात का र्समर्थन करते हुए प्रचण्ड के नेतृत्व को स्वीकारा । लेकिन, उन्होंने सुझाव दिया- प्रचण्ड बार बार अपनी बात को न बदलें ।

Loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz
%d bloggers like this: