एमाले के कारण चिकित्सा शिक्षा विधेयक में अवरोध, डा. केसी की जान खतरे में

काठमांडू, २६ आश्वीन । डा. गोविन्द केसी द्वारा प्रस्तुत मांग को संबोधन करते हुए सरकार ने चिकित्सा शिक्षा विधेयक परिमार्जन किया है । लेकिन प्रमुख प्रतिपक्षी नेकपा एमाले द्वारा अवरोध होने के कारण उक्त विधेयक बुधबार आयोजित संसद बैठक में पेश नहीं हो पाया । डा. केसी का मांग सम्बोधन करने के लिए सरकार तैयार दिख रहा है । लेकिन उसके लिए एमाले तैयार नहीं है ।


शिक्षा मन्त्रालय और डा. केसी समर्थित वार्ता टोली के बीच गत मंगलबार ८ घण्टा विचार–विमर्श हुआ था । उसके बाद सरकार विधेयक परिमार्जन के लिए तैयार हुआ है । परिमार्जित विधेयक को डॉ. केसी ने भी स्वीकार किया है । परिमार्जित विधेयक को बुधबार बैठक में पेश किया जा रहा था । लेकिन एमाले पार्टी के प्रमुख सचेतक भानुभक्त ढकाल ने अवरोध करने के कारण विधेयक पास नहीं हो पाया है । सचेतक ढकाल का कहना है कि संसदीय समिति द्वारा सर्वसम्मत पास प्रतिवेदन ही विधेयक के रुप में पास होना चाहिए, अन्यथा विधेयक स्वीकार नहीं होगा ।
इधर आमरण अनसन में बैठे डॉ. गोविन्द केसी की स्वास्थ्य अवस्था नाजुक बनती जा रही है । अनसन आज ७वां दिन में प्रवेश कर रहा है । कल बुधबार से डॉ. केसी बोलने में असमर्थ हो रहे हैं । स्मरणीय है, डा. केसी चिकित्सा सेवा और शिक्षा सर्वसुलब बनाने के लिए बारबार आमरण अनसन बैठकते आ रहे हैं । यह उनका १३वां अनसन है ।

Loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz