एमाले–माओवादी एकता में अवरोध !

सुर्खेत, २३ जनवरी । नेकपा एमाले और माओवादी केन्द्र के शीर्ष नेताओं के बीच पार्टी एकता संबंधी बहस गम्भीर रुप मे हो रहा है । दोनों पार्टी के शीर्ष नेताओं ने दावा किया है कि कोई भी हालात में एमाले–माओवादी के बीच पार्टी एकता रुकनेवाला जाएगी । लेकिन माओवादी के कुछ नेताओं के बीच आशंका होने लगा है कि एकता होना अब मुश्किल होता जा रहा है । विशेषतः प्रदेश नं. ६ में नेकपा एमाले संसदीय दल की बैठक ने जो निर्णय किया है, उसी के चलते माओवादी नेता इस निष्कर्ष में पहुँचे हैं ।
प्रदेश नं. ६ में नेकपा एमाले संसदीय दल ने निर्णय किया है कि उस प्रदेश में किसी भी हालात में माओवादी को मुख्यमन्त्री नहीं दिया जाएगा । सोमबार सुर्खेत में सम्पन्न एमाले संसदीय दल की बैठक ने यह निर्णय की है । एमाले को कहना है उस प्रदेश में एमाले एकल बहुमत में हैं, ऐसी अवस्था में मुख्यमन्त्री लगायत अन्य प्रमुख पद अन्य पार्टी को देना सम्भव नहीं है । स्मरणीय है प्रदेश नं. ६ और ७ में माओवादी ने मुख्यमन्त्री दावा किया है । कूल ७ प्रदेशों में से ६ प्रदेशों में वामपन्थी गठबन्धन बहुमत में है । पार्टी एकता अभियान में शामील दोनों दल के शीर्ष नेताओं के बीच एमाले को ४ और माओवादी को २ मुख्यमन्त्री आपस में भागबंडा करने की सहमति बनी है ।

Loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
%d bloggers like this: