एलओसी पर तैनात पाकिस्‍तानी सैनिकों को चीन से मदद मिल रही है

भारत-पाकिस्‍तान सीमा पर जारी तनाव के बीच एलओसी पर पाकिस्‍तान की गतिविधियां भारत को चिंता में डाल सकती हैं। खबर है कि एलओसी पर तैनात पाकिस्‍तानी सैनिकों को चीन की तरफ से मदद मिल रही है। मिलिट्री इंटेलिजेंस के सूत्रों ने ‘डीएनए’ से बातचीत में इसकी पुष्टि की है। सूत्रों का कहना है कि उन्‍हें ऐसे संकेत मिले हैं कि पाकिस्‍तानी सेना को चीनी सेना के इंजीनियरों की तरफ से नियमित तौर पर ‘गाइडेंस’ मिल रहा है।

सूत्रों का कहना है कि एलओसी पर तैनात पाकिस्‍तानी सैनिकों को उन चीनी सैनिकों की तरफ से साजो-सामान और तकनीकी मदद मिल रही है जो इंजीनियर और मजदूरों की शक्‍ल में सीमा पर मौजूद हैं। सूत्रों का कहना है, ‘चीनी सैनिक एलओसी पर हर गतिविधि में शामिल हैं और वो एलओसी के समीप नए बंकर बनाने में भी पाकिस्‍तानी सैनिकों की मदद कर रहे हैं।’

आखिरकार फ्लैग मीटिंग के लिए राजी हुआ पाकिस्‍तान

पाकिस्‍तान आखिरकार ब्रिगेडियर लेवल की फ्लैग मीटिंग के लिए राजी हो गया है। दोनों देशों के अफसरों की यह मीटिंग चक्‍कन-दा-बाग में सोमवार को दोपहर एक बजे होगी। सूत्रों के हवाले से आ रही खबर के मुताबिक भारतीय अधिकारी इस बैठक के दौरान अपने जांबाज का सिर मांगेंगे।

पाकिस्तान ने इससे पहले फ्लैग मीटिंग में शामिल होने से मना कर दिया था। दोनों देशों के बीच अंतरराष्ट्रीय सीमा पर 16 जनवरी को मासिक बैठक होनी थी। सूत्रों के मुताबिक बीएसएफ और पाकिस्तान रेंजर्स की कमांडर स्तर की यह बैठक पाकिस्तान के खोखरापार में होनी थी। शनिवार को पाकिस्तान रेंजर्स की ओर से इसे अगले माह तक टालने की सूचना बीएसएफ को भेजी गई थी।

Loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz