ऐतिहासिक धरहरा का प्राचीन स्वरूप  के अनुसार ही पुनः निर्माण

१७ सावन, काठमाडौं ।

अाज के गाेरखापत्र दैनिक में प्रकाशित खबर के अनुसार भूकम्प में क्षतिग्रस्त  ऐतिहासिक धरहरा का प्राचीन स्वरूप  के अनुसार ही पुनः निर्माण की सहमति हुइ है ।

राष्ट्रिय पुनःनिर्माण प्राधिकरण के प्रमुख कार्यकारी अधिकृत डा. गोविन्दराज पोखरेल के संयोजकत्व में सोमबार हुई सम्बन्धित निकाय के बैठक में  प्राधिकरण, नेपाल टेलिकम, पुरातत्व विभाग अाैर मेरो धरहरा म बनाउँछु अभियान के संयुक्त पहल मे‌ धरहरा पुनःनिर्माण करने की सहमति हुई है ।

बैठक में प्रमुख कार्यकारी अधिकृत डा. पोखरेल ने कहा कि धरहरा देश के पहचान के रुप में जाना जाता रहा है इसके निर्माण का कार्य तीव्रता के साथ तीन वर्ष में पूरा किया जाएगा ।
करीब आठ अर्ब रुपियाँ लागत का अनुमान  है । धरहरा पुनःनिर्माण के लिए अब तक   मेरो धरहरा म बनाउँछु अभियान के अन्तर्गत करिब नौ करोड रुपया राष्ट्रिय वाणिज्य बैङ्क के थापाथली शाखा में जमा हाे चुका है ।  उक्त शाखा में रकम जमा करने का काम निरन्तर जारी है ।

Loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz