काठमान्डू जिला प्रशासन कार्यालय से नागरिकता  अभिलेख गायब 

श्रावण १९

नागरिकता एक अमूल्य दस्तावेज है.नागरिकता दस्तावेज ही अगर गायब हो जाय तो लोकतन्त्र में क्या कहा जाय ? यही स्थिति हुई है जिला प्रशासन कार्यालय काठमाण्डू में .अभी  नागरिकता अभिलेख  गायब होने से कार्यालय में तनाव उत्पन्न हो गई है . २०४० साल से २०४६ तक की नागरिकता अभिलेख उपलब्द्ध   नहीं है . सी. डी. ओ. बालकृष्ण पन्थी बताते हैं,“कार्यालय में नागरिकता का अभिलेख है ,लेकिन सुरक्षित नहीं है .अधिकांश अभिलेख टुकड़ा- टुकड़ा हो गया है .तीन -तीन महीने में एक शाखा से दूसरी शाखा में कर्मचारियों  की तबदीली  हो जाती है,सुरक्षित कौन  करे .“
नागरिकता शाखा के प्रशासकीय अधिकृत नबराज   ढकाल का कहना है कि हम पिछले एक वर्ष से यहाँ कार्यरत हैं .तीन -तीन  महीने में कर्मचारियों  की तबदीली हो जाती है . कैसे सुरक्षित करें ?

Leave a Reply

Be the First to Comment!

avatar
  Subscribe  
Notify of
%d bloggers like this: