Fri. Sep 21st, 2018

केन्द्र सरकार संघीयता समाप्त करने का षडयन्त्र कर रही हैः मन्त्री सोनल

बारा, २५ जुलाई । प्रदेश नं. २ के भौतिक पूर्वाधार विकास मन्त्री जितेन्द्र सोनल ने कहा है कि केन्द्र सरकार संघीयता समाप्त करने के षडयन्त्र में लगी हुई है । उन का आरोप है– प्रदेश द्वारा निर्मित विधेयक के ऊपर केन्द्र सरकार द्वारा हस्तक्षेप हो रहा हो, जो संघीयता के मर्म विपरित है । राष्ट्रीय जनता पार्टी (राजपा) नेपाल द्वारा मंगलबार कलैया में आयोजित पत्रकार सम्मेलन को सम्बोधन करते हुए उन्होंने ऐसा आरोप लगाया है ।
मन्त्री सोनल का यह भी मानना है कि अब केन्द्र सरकार के असहयोग की सीमा समाप्त हो रही है । उन्होंने चेतावनी दिया– ‘प्रदेश सरकार केन्द्र से अन्तिम लडाइँ लड़ने के लिए तैयार है ।’ उनका कहना है कि प्रदेश सरकार द्वारा निर्मित ‘प्रदेश पुलिस ऐन’ में केन्द्र ने हस्तक्षेप किया है । मन्त्री सोनल ने आगे कहा– ‘सरकार बदनियतपूर्ण ढंग से संविधान के विपरित प्रदेश सरकार द्वारा हो रहे कामों में अवरोध करती है । लेकिन अब हम लोग भी चुप रहनेवाले नहीं हैं, अपना पुलिस ऐन, खुद बनाएंगे ।’
मन्त्री सोनल का यह भी कहाना है कि आर्थिक वर्ष २०७५–०७६ के लिए सरकार द्वारा पेश बजट में भी प्रदेश को उपक्षा की गई है । उनका मानना है कि देश को पुरानी व्यवस्था के अनुसार ही संचालन करने का प्रयास हो रहा है । उन्होंने कहा– ‘प्रधानमन्त्री कार्यालय को जितना बजट दिया गया, प्रदेश को उतना भी नहीं है । ऐसी अवस्था में केन्द्र के साथ लड़ाई तो होगी है ।’ मन्त्री सोनल ने यह भी कहा कि राजपा सांसद रेशम चौधरी को लगाया गया झूठा मुद्दा तत्काल वापस होना चाहिए ।

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of