कोरिया में डिप्रेसन की वजह से करते हैं नेपाली कामदार आत्महत्या 

भाद्र १० ।
कोरिया  पारिश्रकिक के दृष्टिकोण से  आकर्षक देश  माना जाता है । नेपाल के अधिकांश युवा कामदार के रुप में कोरिया जाते हैं । लेकिन आकर्षक वेतन न  मिलने  की वजह से आत्महत्या भी कर लते हैं ।
वैदेशिक रोजगार विभाग ,ईपीएस कोरिया शाखा के अनुसार पिछले ८ महीने में १७ नेपाली कामदारों का  निधन हुआ था । इनमें से ४ कामदरों ने आत्महत्या की थी । अधिकांश नेपाली  कामदार जमीन बेचकर व ऋण लेकर कोरिया जाते हैं लेकिन वहाँ जाने के बाद डिप्रेसन से आत्महत्या कर लेते हैं । आखिर क्यों करते हैं आत्महत्या ? ईपीएस शाखा प्रमुख बाबुराम खतिवडा कहते हैं-“कोरिया भेजने की प्रक्रिया ही गलत है ।वहाँ जाने के बाद उनके साथ` थ्री डी` [डर्टी , देंजरस    ,डिफिकल्ट ] की समस्यायें हो जाती  हैं ।इसी वजह से अधिकांश नेपाली युवा आत्महत्या कर लेते हैं ।
ईपीएस शाखा के अनुसार कोरिया में सन् २०१६ में ११ नेपाली कामदारों का निधन हुआ था । इनमें से ३ कामदरों ने आत्महत्या की थी ।गौरतलब  है कि इतनी बडी तादाद में आत्महत्या करने के बाद भी नेपाल सरकार मौन क्यों बैठी है ?
Loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz