कोहलपुर में ३ दिनों की लोककला प्रशिक्षण कार्यशाला सम्पन्न

नेपालगंज, २६ जनवरी । बांके जिला की कोहलपुर में आयोजित लोककला प्रशिक्षण, कार्यशाला तथा गोष्ठी सम्पन्न हो गई है । लोककला की संरक्षण तथा प्रवद्र्धन करने की उद्देश्य से ललितकला प्रज्ञा प्रतिष्ठान, लोककला विभाग ने ‘हाम्रँे पूर्णिमा साहित्य प्रतिष्ठान कोहलपुर’ की सहकार्य में यह कार्यक्रम आयोजन किया था ।


तीन दिन की कार्यशाला तथा गोष्ठी की समापन करते हुए कोहलपुर नगरपालिका के प्रमुख लुटबहादुर रावत ने कहा– ‘लोककला और साहित्य के विकास के लिए मैं तयार हंू । संविधान में भी लोककला तथा संस्कृति की संरक्षण करने की अधिकार सुनिश्चित है । कोहलपुर नगरपालिका भी उसके लिए तैयार है ।’


कार्यक्रम में प्रतिष्ठान के लोककला विभाग प्रमुख प्राज्ञ परिषद् सदस्य एससी सुमन ने कहा कि तीन दिनों कि प्रशिक्षण अधिक लोगों ने सहभागिता जताया । उन्होंने कहा– ‘स्थानीय लोककला की विकास के लिए प्रतिष्ठान देशभर में काम कर रही है । इसबार की कार्यक्रम कोहलपुर को पहचान कराने में सहयोगी बना है ।’


कार्यक्रम में नेपाल पत्रकार महासंघ के केन्द्रीय सदस्य मधु शाही, कलाकार तथा कला लेखक देवेन्द्र थुम्केली, कलाकार तथा कवि विक्रम शिशिर ने अपनी–अपनी ओर से मन्तव्य रखे थे । इसीतरह कार्यक्रम में ललितकला पत्रकार समाज के कार्यसमिति सदस्य विनिता मरहट्टा, नेपाल टेलिभिजन कोहलपुर के गंगाराम खतिवडा आदि उपस्थित थे । कार्यक्रम में बाँके, बर्दिया, दाङ, कैलाली, कपिलवस्तु आदि जिला से दो दर्जन से अधिक लोग सहभागी थे । कार्यक्रम में कवि गजलकार देवकी निरौला, पुष्कर रिजाल, कपिल अन्जान, देवेन्द्र आचार्य, रसिक राज जैसे साहित्यकारों ने कविताएं वाचन की थी ।

Loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
%d bloggers like this: