गणतंत्र की स्थापना में दलितों के बलिदानों को नहीं भूला जा सकता : अध्यक्ष प्रचंड

हिमालिनी डेस्क
काठमांडू, ८ जुलाई ।
नेकपा माओवादी केंद्र के अध्यक्ष पुष्पकमल दाहाल प्रचंड ने कहा— “गणतंत्र की स्थापना में दलितों के बलिदानों को नहीं भूला जा सकता ।”

आज परियार सेवा समाज के कार्यक्रम को संबोधित करते हुए अध्यक्ष प्रचंड ने इस बात का भी जिक्र किया कि उत्पीडन और अधिकार के मुद्दे उठाने पर उन्हें व्यापक विरोध का सामना करना पड़ा ।

साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि माओवादी युद्ध की बदौलत ही महिला, दलित, जनजाति, मधेशी लगायत पात्र खुलकर बहस में हिस्सा ले सके हैं ।

loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz