गद्दाफी की मौत की पूरी दास्तान

इंटरनेट पर दिखाये जा रहे एक वीडियो में एक युवा लीबियाई लड़ाके ने दावा किया है कि उसने लीबिया के अपदस्थ नेता मुअम्मर गद्दाफी को पकड़ने के बाद उसे दो गोलियां मारी थी जो उसकी मौत का कारण बनी।
बेनगाजी के इस युवक सनद अल-सादिक अल उरीबी के दावे के बाद गुरूवार को हुई गद्दाफी की मौत को लेकर चल रही अटकलें और बढ़ गयी हैं। यह दावा लीबिया की सत्ताधारी परिषद नेशनल ट्रांजिशनल कौंसिल के इस दावे का भी जाहिरा तौर पर विरोधाभासी है जिसमें कहा गया था कि गद्दाफी को सिर में उस समय गोली लग गयी थी जब वह पकड़े जाने के बाद अपने समर्थकों और नयी सत्ता के लड़ाकों के बीच गोलीबारी में फंस गया था।

वीडियो में अनेक अज्ञात लोगों द्वारा उरीबी का साक्षात्कार लिये जाते दिखाया गया है, जिनमें से कुछ ने सेना की वर्दी पहनी हुई है और वे उसे बधाई दे रहे हैं। उरीबी के बारे में कहा जा रहा है कि उसका जन्म 1989 में हुआ था। सेना की वर्दी पहने यह लोग वीडियो कैमरे की ओर एक अंगूठी और खून से सनी कथित तौर पर गद्दाफी की एक जैकेट दिखा रहे हैं। अंगूठी पर गद्दाफी की दूसरी पत्नी साफिया का नाम और उसकी विवाह की तारीख दस सितंबर 1970 खुदा हुआ है।

उरीबी ने कहा कि मैंने उस पर दो गोलियां चलायी, एक उसकी बगल में लगी और दूसरी सिर में। उसकी मौत तुरंत नहीं हुई थी। वह घंटेभर बाद मरा। उसने कहा कि वह बेनगाजी में अपनी ब्रिगेड के सदस्यों से अलग कर दिया गया था और जब नयी सत्ता के लड़ाकों ने गद्दाफी के गृहनगर सिर्ते पर हमला किया तो उसने मिसराता के लड़ाकों में शामिल होने का फैसला किया। उरीबी ने कहा कि हमारा गद्दाफी से एक गली में सामना हुआ जहां वह कुछ बच्चों और लड़कियों के साथ जा रहा था। उसने एक हैट पहना हुआ था। हमने उसे उसके बालों से पहचाना और मिसराता के एक लड़ाके ने मुझसे कहा, वह गद्दाफी है। आओ, उसे पकड़ते हैं।

उरीबी ने कहा कि उसने लीबिया के पूर्व नेता को उसकी बांह मरोड़कर काबू किया। गद्दाफी के पास सोने की एक पिस्तौल भी थी। उरीबी ने कहा, मैंने उसे थप्पड़ मारा। उसने मुझसे कहा, तुम मेरे बेटे की तरह हो। मैंने उसे एक और थप्पड़ मारा। उसने कहा, मैं तुम्हारे पिता की तरह हूं। इसके बाद मैंने उसे बालों से पकड़ा और उसे जमीन पर गिरा दिया। लड़ाके ने कहा कि वह गद्दाफी को बेनगाजी ले जाना चाहता था लेकिन जब मिसराती लड़ाकों ने गिरे हुए नेता को अपने शहर ले जाने पर जोर दिया तो उसने गोली चलाने का फैसला किया और गद्दाफी को दो गोलियां मारी। उसने कहा कि मिसराता के लड़ाकों ने उसकी पिस्तौल ले ली और उसे कहा कि अगर वह लीबिया के तीसरे शहर लौटा तो उसे जान से मार दिया जाएगा।

11

Loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

avatar
  Subscribe  
Notify of
%d bloggers like this: