गाली और ताली की बौछार सूर्यबहादुर थापा पर

 

श्वेता दीप्ति

 

suryaकाठमान्डौ १० गते शनिवार राप्रपा के महाधिवेशन में शुभकामना मंतव्य देने के क्रम में सूर्यबहादुर थापा ने गणतंत्र की वकालत क्या कर दी बस गाली और ताली की बौछार ही शुरु हो गई ।
कार्यक्रम के बीच में सूर्यबहादुर थापा ने संविधान बनाने के विषय में कहते कहते ये कह दिया कि राजतंत्र का औचित्य ही नहीं है इसी बात पर राप्रपा सदस्यों का गुस्सा उबल पडा । हाल, राजा लाओ, देश बचाओ के नारा से गूँज उठा । राष्ट्रीय प्रजातंत्र और सनातन धर्म की रक्षा करते हुए आर्थिक समृद्धि के नारा के साथ राप्रपा का प्रथम अधिवेशन का बन्द सत्र नेपाल प्रज्ञा प्रतिष्ठान में होना है । जिसमें २०० प्रतिनिधि और ३०० पर्यवेक्षक की सहभागिता का अनुमान है ।

Loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

avatar
  Subscribe  
Notify of
%d bloggers like this: