गुरमीत राम रहीम की गुफा का सच

११ सितम्बर

डेरा सच्‍चा सौदा में सर्च आॅपरेशन के दौरान गुरमीत राम रहीम की गुफा को लेकर हैरान करने वाले खुलासे हुए। 12 एकड़ क्षेत्र में फैली यह गुफा किसी तिलिस्‍म से कम नहीं है। एक के बाद एक इसके राज सामने आए तो सर्च टीेमें व विशेषज्ञ भी अचरज में रह गए। गुरमीत की गुफा की एक झलक ही उसके विलासी जीवन की कहानी बयान कर देती है।

गुफा में 10 से अधिक कमरे हैं और इस तिमंजिली गुफा में लिफ्ट भी लगी है जो बेसमेंट से सीधे छत पर बने गार्डन तक पहुंचती है। सूत्रों के हवाले से जानकारी है कि गुफा में प्रवेश के बाद इसका एक रास्ता बीच की मंजिल पर खुलता है, जहां बीच में हाॅलनुमा बड़ा कमरा है। इस हाॅल के चारों तरफ कमरे हैं।

प्रत्येक कमरा बड़े होटल की तरह सुसज्जित है। इन्हीं कमरों के नीचे बेसमेंट में इसी डिजाइन के कमरे बने हुए हैं। अति आधुनिक सुविधाएं इन कमरों में दी गई हैं। बाबा की पोशाकें, महंगे जूते भी यहां रखे हुए हैं। यहां तक सोफे भी बहुत उच्च क्वालिटी के हैं। गुफा जैसा यहां कुछ भी नहीं है। यह महल है और इसके ऊपर के हिस्से में बड़ा स्वीमिंग पुल व गार्डन है।

सुरक्षा इंतजाम देख दंग रह गईं सर्च टीमें

सर्च टीमें रहस्यमय गुफा के सुरक्षा के इंतजाम देख दंग रह गई। दीवारें इतनी मजबूत थी कि इन्हें गोलों से भी भेदा न जा सके। गुफा के दरवाजे रिमोट में विशेष कोड से खुलते हैं। यदि कोई अनजान व्यक्ति गुरमीत के कमरे तक पहुंच जाए तो सेंसर उसे पहचानकर हूटर जैसी आवाज देता था। खिड़की-दरवाजे भी बुलेट प्रूफ थे। ऊपरी मंजिल पर कमरों को बहुत मजबूत स्थिति से बनाया गया है। जिस तरह बाहर से दरवाजे कोड से खुलते हैं, उसी तरह अंदर से भी कोड से ही दरवाजे खुलते थे।

इसके अलावा, बुलेट प्रूफ शीशे ऊपर के कुछ अन्य स्थानों पर भी हैं। बाहर सुरक्षा कर्मी तैनात रहते थे और साथ ही दीवारें इतनी ऊंची हैं कि उन्हें लांघ पाना नामुमकिन था। दीवारों की चौड़ाई भी बहुत अधिक है आैर उन्‍हें आसानी से नहीं तोड़ा जा सकता। बाहर की तरफ पानी है तो अंदर की तरफ गहरी खाई खोदी गई है।

गुफा से साध्‍वी आश्रम तक था सुरंगनुमा रास्‍ता

साध्वी आश्रम व गुफा के बीच एक सुरंगनुमा रास्ता पाया गया है। यह रास्ता गुफा के एक छोर से शुरू होता है। जो दूसरी ओर साध्वी आश्रम की ओर आता है। अब यह रास्ता बंद है। तीसरी मंजिल पर सुरंग पाई गई है, जिसके अंदर से बाहर जाने का रास्ता था। इसमें मिट्टी भरी हुई मिली।

गुंबद से दिखता है पूरा डेरा

डेरा प्रमुख की गुफा के ऊपर गुंबद बना हुआ है। इस गुंबद से देखा जाए तो पूरा डेरा दिखाई देता है। यहां से पूरे डेरे की गतिविधियां देखी जा सकती हैं। इस गुंबद से इंटरनेशनल क्रिकेट स्टेडियम की हलचल को भी आसानी से देखा जा सकता है।

200 एकड़ पर बनी है करीब एक हजार इमारतें

डेरा सच्चा सौदा की सिरसा में 766 एकड़ जमीन है। इनमें से 200 एकड़ जमीन पर करीब एक हजार इमारतें बनी हुई है। जिनमें रिजॉर्ट, सिनेमा, कोठियां, फ्लैट्स, कैंटीन, दुकानें, प्रशासनिक भवन से लेकर अलग-अलग विंग के भवन बने हुए हैं।

Loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz
%d bloggers like this: