‘घर शान्ति से ही बिश्व शान्ति का अधार’ : नेपालगंज में महिला हिंसा पर अन्र्तक्रिया

1नेपालगन्ज,पवन जायसवाल २०७१ मंसीर २४ गते ।
महिला हिंसा बिरुद्ध के १६ वाँ दिनों के अभियान अन्र्तगत मंसीर२२ गते  नेपालगंज में अन्र्तक्रिया कार्यक्रम सम्पन्न हुआ हैं ।
बिभिन्न संघ संस्था के संयुक्त आयोजना में सम्पन्न अन्र्तक्रिया कार्यक्रम में बिभिन्न वक्ताओं ने अपना अपना बिचार रखते हुयें इस को राजनितिक मुद्धा बनाकर  महिला हिंसा को अन्त करने पर जोड दिया ।
महिलाओं को बिभिन्न क्षेत्र में ३३ प्रतिशत अनिवार्य सहभागिता कराने के लियें  बताया गया । कार्यक्रम के प्रमुख अतिथि संबिधान सभा सभाषद् दल बहादुर सुनार ने दलित के मुद्धा तथा महिला हिंसा संबिधान सभा में उल्लेख होगा तब मात्र अन्त होने की बात बतायी । साथ संबिधान सभा में भी महिलाओं को अधिक सहभागिता कराने के लियें जोड दिया ।
इसी तरह कार्यक्रम में बोलते हुयें दलित महिला संघ बाँके की अध्यक्ष निर्मला सुनार ने पुरुष प्रधान नेपाली समाज पृत्तसतात्मक सोच रहा समाज में महिलाए को लैगिंक हिंसा बिभेद भोगने को बाध्य हुई है । महिला के भित्तर  भी अभी दलित महिला जातीय बिभेद में जेसे अमानीयवीय ब्यावहार से पिडित होने की अवस्था बिद्यमान रहा है बताया । जिला प्रशासन कार्यालय बाके के सहायक प्रमुख जिला अधिकारी गंज बहादुर एम सी राष्ट्रीय मानव अधिकार आयोग क्षेत्रीय निर्देशक मुरारी खरेल लगाएत लोगों ने अपना–अपना विचार रक्खा था ।
कार्यक्रम में आम नागरिक संजाल बाके दलित महिला संघ फेडो बाके बि. गु्रप बाके, नेपाल इक्सन एजुकेशनल फाउन्डेसन तराई मानव अधिकार रक्षक संजाल बाके मानव अधिकार सचेतन मंच एफा अन्र्तपार्टी महिला संजाल बाके लगायत के संघ संस्थाए के संयुक्त आयोजन ने कार्यक्रम का आयोजन गरेका किया था कार्यक्रम संचालन थारुवान मल्टिस्किल की जिला संयोजक सानु ओझा ने किया था ।

loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz