चंपारण सत्याग्रह ने डाली थी आजादी की नींव, सत्याग्रह शताब्दी के मौके पर बोले महामहिम राज्यपाल

IMG-20170414-WA0038

*मोतिहारी.मधुरेश*– किसानों की समस्याओं को सुनने अगर गांधी जी सन् 1917 में चंपारण नहीं आते तो आज देश आजाद नहीं होता। चंपारण सत्याग्रह ने भारतीय स्वाधीनता आंदोलन की नींव डाली थी। उक्त बातें मोतिहारी के जिला स्कुल के प्रांगण में सत्याग्रह शताब्दी वर्ष के मौके पर चंपारण के स्वतंत्रता सेनानियों एवं उनके उत्तराधिकारियों के सम्मान में आयोजित समारोह को संबोधित करते हुए महामहिम राज्यपाल रामनाथ कोविंद ने कही। उन्होंने कहा कि देश को आजादी दिलाने एवं मोहन दास करमचंद गांधी को महात्मा बनाने का श्रेय च़पारण को है। इस मौके पर मौजूद राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की पौत्री तारा गांधी का स्वागत् करते हुए राज्यपाल ने कहा कि उनके आगमन से चंपारण सत्याग्रह की सौ वर्षो की यात्रा पूरी हो गयी है। राज्यपाल ने कहा कि कभी नहीं हारने वाले फिरंगियों को पहली हार चंपारण में ही मिली थी। उन्होंने कहा कि बापू भौतिक विकास के साथ-साथ अध्यात्मिक उन्नति भी चाहते थे। महामहिम ने कहा कि आज हमारे समक्ष कई समस्याएं हैं, जिनका समाधाध तलाशने की जरुरत है। बापू के सत्याग्रह आंदोलन के परिणाम स्वरुप अंग्रेजों ने एग्रेरियन बिल पास करके नील की खेती की बाध्यता को समाप्त किया। महामहिम ने कहा कि गांधी युग का आरंभ चंपारण से हुआ। उन्होंने कहा कि बापू की चंपारण यात्रा ने देश के इतिहास को बदलने का काम किया था। महामहिम ने कहा कि बापू की चंपारण यात्रा ने अंग्रेजी सत्ता का पांव उखाड़ दिया था। राज्यपाल ने लोगों से स्वच्छता अभियान को गति प्रदान करने की अपील की। उन्होंने कहा कि केन्द्र और राज्य सरकार इस दिशा में कार्य कर रही है। समारोह को संबोधित करते हुए गांधी जी पौत्री तारा गांधी ने कहा कि चंपारण की बोली और भाषा बहुत ही बेहतर है। बिहार और चंपारण ने उन्हें हिंदी बोलना सिखाया है। अपने अनुभवों को साझा करते हुए यहां की मैथिली एवं भोजपुरी भाषा की उन्होंने जमकर तारीफ की। समारोह को संबोधित करते हुए केन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री राधामोहन सिंह ने कहा कि चंपारण सत्याग्रह में राजकुमार शुक्ला की बड़ी भूमिका है। अगर शुक्ला जी गांधी जी को चंपारण नहीं बुलाते तो यहां सत्याग्रह नहीं होता और अंग्रेजों के अत्याचार से निलहे किसानों को मुक्ति नहीं मिलती। मंत्री श्री सिंह ने चंपारण सत्याग्रह पर पीएम मोदी द्वारा दिल्ली में दिए गये व्याख्यान को पढ़ कर सुनाया। इस अवसर पर कोलंबिया से पहुंचे शोधार्थी छात्र विलियम एलिस का भी स्वागत मंच पर किया गया। आगत अतिथियों का स्वागत् आयोजन समिति के अध्यक्ष वरिष्ठ पत्रकार चंद्रभूषण पांडेय ने किया। समारोह को केविवि के कुलपति प्रो.अरविंद अग्रवाल एवं बीआरए बिहार विश्वविद्यालय के कुलपति डा. अमरेन्द्र नारायण यादव ने भी संबोधित किया। मौके पर शिवहर सांसद रमा देवी, नगर विधायक प्रमोद कुमार, कल्याणपुर विधायक सचिंद्र प्रसाद सिंह, मधुबन विधायक राणा रंधीर, पिपरा विधायक श्यामबाबू यादव एवं नप के मुख्य पार्षद प्रकाश अस्थाना समेत कई गन्यमान्य लोग मौजूद थे।

loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz