चीन, तातोपानी नाका हमेशा के लिए क्यों बन्द करना चाहता है ?

काठमांडू, ६ आश्वीन । नेपाल–चीन के लिए प्रमुख व्यापारिक नाका है ‘तातोपानी–खासा’ । लेकिन यह नाका हमेशा के लिए बन्द करना चाहता है, चीन । नाका बन्द करने के लिए चीन ने नेपाल समक्ष औपचारिक प्रस्ताव भी रख चुका है । नेपाल और चीन के बीच थप नाका खुलाने के लिए गत बुधबार प्रोटकल सम्झौता होने जा रहा था । लेकिन जब चीन ने ‘तातोपानी–खासा’ नाका हमेशा के लिए बन्द करने की प्रस्ताव को आगे बढ़ाया, बुधबार तय प्रोटोकल सम्बन्धी सम्झौता भी रद्द हो गया है ।


चिनियां पक्ष इस नाका को क्यों हमेशा के लिए बंद करना चाहता है ? इस का जवाफ अभी तक स्पष्ट नहीं हो पाया है । लेकिन चिनियां उच्चस्तरीय वार्ता टोली को कहना है कि सुरक्षा संबंधी कारण इससे बंद करना चाहिए । स्मरणीय है कि भूकंप के बाद इस नाका पर चीन का ज्यादा दिलचस्पी नहीं दिखाई देती ।
। नेपाल–चीन सडक यातायात सम्झौता अन्तर्गत नेपाल–चीन के बीच तीन नाका सञ्चालन हो सकता है । पिछली बार उस को बढ़ाने के संबंध में वार्ता जारी है । अभी तक नेपाल ने खासा–ओलाङचुङगोला (ताप्लेजुङ), खासा–रसुवागढी (रसुवा) और खासा–यारी (हुम्ला) नाका प्रयोग करते आ रहा है । स्मरणीय है– उच्चस्तरीय (राष्ट्रपति–प्रधानमन्त्री) भेट में खासा नाका खुलाने के लिए चीन सकारात्मक था, लेकिन अभी आकर चीन इससे इन्कार कर रहा है । नेपाली वार्ता टोली को कहना है कि कर्मचारी तह में बात नहीं बन रही है ।

Loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz