चीन नेपाल में संस्कृति, पर्यटन,व्यापार के नाम पर अपना बर्चस्व जमा रहा है : चन्दन सिंह

चन्दन सिंह, महोत्तरी # नेपाल विश्व और सार्क देशो के महत्त्वपूर्ण रणनीतिक और सामरिक केन्द्र बनने जारहा है। इस कार्य को आगे बढाने मे चाइना सब से आगे आ गया है।

# नेपाल मे चाइना संस्कृति, पर्यटन, उधोग व्यापार के नाम पर अपना गहरा प्रभाव जमाने मे दिनरात लगा हुआ है।

# मधेश जितना भौगोलिक रुप से सुरक्षित लगता है, पर आज राजनीतिक रुप से उतना ही असुरक्षित होगया है।

# जैस उसने पहले पाकिस्तान मे किया था। आज पाकिस्तान के सब से बडा ऋणदाता देश चाइना हो गया है।

# पाकिस्तान को चाइना के ऋण चुक्ता करने मे २० वर्ष लगेगा। श्रीलंका मे भी चाइना ने वही किया है। इसलिए राजापाक्ष्ये का सरकार गिर गया। आज श्रीलंका चाइना के कर्जा मे डुबा हुआ है।

# दुनियाँ के प्रमुख आतंककारीयो का संरक्षणकेन्द्र होते हुए भी पाकिस्तान के साथ चाइना की दोस्ती देखने और समझने लायक है !

# जिसका परिणाम है कि आज पाकिस्तान के बलोचिस्तान मे चाइना ने Warship लाके रखा हुआ है ? जो कि भारत लगायत सभी सार्क राष्ट्र के लिए महत्त्वपूर्ण विषय हो गया है।

# चाइना नेपाल मे चाइनिज शिक्षा देना शुरुआत कर दिया है, साथ ही पाक अधिकृत काश्मिर को चीरते हुए ग्वादर से वन बेल्ट वन रोड परियोजना को आगे बढाया है !

# इसलिए नेपाल को अब चाइना गोद ले लिया है।
चाइना नेपाल से भी वन बेल्ट रोड परियोजना पर हस्ताक्षर करबाया है। देखना है कि अब नेपाल चाइना के लिए कहाँ कहाँ हस्ताक्षर करता है ?

# उसी तरह भारत से भी बुद्ध सर्किट रोड, सिल्क रोड और राम जन्मभुमि अयोद्धया से जनकपुरधाम रोड परियोजना को नेपाल कार्यान्वयन करबा पाएगा ?

# इसतरह चाइना मधेश और इन्डियन के बोर्डर पर अपना उपस्थिति दर्ज करने मे दिनरात लगा है।

# इसलिए नेपाल विश्व के रडार पर है !
अगर मधेश और मधेशी का अस्तित्व बचाना है, तो मधेशीयो को मधेश आजादी की लडाइ लडना परेगा !

# अब कि बार एक ही माग, जनमतसंग्रह का हो एलान !

चन्दन सिंह

 

 

 

Loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

avatar
  Subscribe  
Notify of
%d bloggers like this: