चुनाव है गुलामी का किस्सा, हमें नही लेना है ईसमें हिस्सा : रोशन झा

 rup-1

रोशन झा, ४ मार्च, राजबिराज | नेपाल सरकार द्वारा बैशाख ३१ गते स्थानीय तह के लिये निर्वाचन कराने की घोषणा कर दी गई है । मधेसी समुदाय ईस चुनाव के बिरोध में है, और मधेस के सक्रिय राजनैतिक दल भी  ईस चुनाव का बहिस्कार करने का निर्णय किया है । मधेसीजन चुनाव को लेकर काफी आक्रोशित है और ईसबार मधेसी मोर्चा का भी राजनैतिक जीवन धराप में है | ईससे पहले मधेसी जनता के हक-अधिकार को लेकर आन्दोलन करनेवाले मधेशी दल कईबार अपने अडान से पीछे हटते नजर आरहें हैं |  ईसबार अगर मधेसीदल जनभावना अनुरुप यदि अधिकार का माँग रखकर संघर्ष में नही उतरती है तो उनकी राजनीति ही मधेस में संकट में पद सकता है ।

स्वतन्त्र मधेस देस का अभियान चला रहे स्वतन्त्र मधेस गठबन्धन के संयोजक डा. सीके राउत नेपाल प्रहरी के हिरासत में है | उनका गठबन्धन द्वारा “कोठली के बाहर छाप, गुलामी अन्त्य करो आप | चुनाव है गुलामी का किस्सा, हमें नही लेना ईसमें हिस्सा” ऐसा नारा मधेशियों के सामने रखा है | गठबन्धन स्रोत अनुसार, चुनाव एक राजनैतिक प्रक्रिया है और स्वतन्त्र मधेस गठबन्धन ईसका बिरोध ना करते हुए ईस चुनाव में असहयोग आन्दोलन करने जा रही है । गठबन्धन का कहना है कि हम ये परिक्षण करना चाहते है कि स्वतन्त्र मधेस के पक्षधर कितने मधेसी जनता और स्वराजी आजादी के लिए तैयार है और असहयोग आन्दोलन में हिस्सा लेती है । गठबन्धन नें यह बात स्पष्ट किया है कि स्वतन्त्र मधेस का नारा लेकर आगे बढनेवाले मधेसी जनता, स्वतन्त्र मधेस में सक्रिय रहे स्वराजी नेता तथा कार्यकर्ता लगायत हरेक गतिविधियों पर गठबन्धन का नजर है और चुनावी समिकरण के बाद गठबन्धन ईसकी समीक्षा करेगी |

Loading...

Leave a Reply

1 Comment on "चुनाव है गुलामी का किस्सा, हमें नही लेना है ईसमें हिस्सा : रोशन झा"

avatar
  Subscribe  
newest oldest most voted
Notify of
syngbodhan
Guest

आप्का नेता जो डा. राउत है । उसको चुनाव मे भाग ले कर मधेसीयो जनताको मत लेकर सि‌‌ङ्गो नेपाल देशको साशक बन सक्ता है । बिदेशीयोको र्इसारामा क्यो केवल मधेसीयो जनताको उचालकर नेपाली जनता बिच लडाकर बिदेशीलार्इ आफ्नो मातृभुमि सुम्पनेके लिये चलाखिया रचराहा है । यस मे सोचो हस मधेसीवासीयो भार्इ बहिनियो ।

%d bloggers like this: