छठ व्रत का प्रारम्भ मंगलवार होगा नहाय खाय

२३ अक्टुवर

छठ पूजा व्रत चार दिन तक चलता है। मंगलवार को नहाय खाय होगा, जिसके तहत महिलाएं सुबह स्नान करके अरबा चावल, चने की दाल व लौकी की सब्जी खाती हैं। खाने में लहसुन प्याज नहीं होता है और सब्जी भी सेंधा नमक से तैयार की जाती है।

छठ पूजा के लिए बांस या पीतल की सूप, बांस के फट्टे से बने दौरा, डलिया, डगरा, पानी वाला नारियल, गन्ना, सुथनी, शकरकंदी, हल्दी, अदरक, नाशपाती, नींबू बड़ा, शहद की डिब्बी, पान, साबूत सुपारी, कैराव, सिंदूर, कपूर, कुमकुम चावल, अक्षत के लिए चन्दन व मिठाई आदि खरीदी जाती है। इसके पहले दिन मंगलवार को नहाने खाने की विधि होती है। घरों में महिलाएं खाना तैयार करती हैं।

 

25 अक्टूबर को खरना किया जाएगा। खरना में व्यक्ति को पूरे दिन का उपवास रखता है। शाम के समय गन्ने का रस या गुड़ में बने हुए चावल की खीर का प्रसाद के रूप में सेवन किया जाता है। 26 अक्टूबर को अस्ताचलगामी और 27 अक्टूबर उगते सूर्य देव को अ‌र्घ्य दिया जाएगा।

Loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

avatar
  Subscribe  
Notify of
%d bloggers like this: