“छुपु र छुपु हिलोमा धा रोपेर घोडौला …………” ।

२९ जून काठमाण्डू, मालिनी मिश्र ।

dhanropaiआज का दिन, आषाढ १५ गते नेपाल में धान की रोपाई के दिन के रुप में व चूडा दही खाने के लिए प्रसिद्ध है । इस दिन को हम धान रोपाइ के दिन, रोपाइ यात्रा, धान दिवस आदि नाम से भी जानते हंै । जैसे कि नेपाल की पहचान कृषि प्रधान देश के रुप में भी है अतः आज के दिन का विषेश महत्व है । किसान वर्ष भर के लिए खाद्यान जुटाने की व्यवस्था करते हैं । दोहरी गाते हुए विषेश आशा के साथ काम में उत्साह होता है । गर्मी का मौसम होने के कारण दही के साथ चूड़ा खाने की प्रथा है जिससे काम करते करते थोडी राहत मिले व दही को शुभ भी माना जाता है । सिर्फ किसान ही नही आज के दिन सभी के घरों में दही चूड़ा मिलेगा ।

इस बार किसानों में मौसम के प्रति सकारात्मकता दिख रही है । उपज अच्छे होने के पूर्ण आसार नजर आ रहे है । धान का उत्पादन बढने का अनुमान लगाया जा रहा है ।

Loading...