जनकपुर में झूलन महोत्सव जारी, पर्यटकों का आगमन शुरु

jhulan

विजेता चौधरी, जनकपुर,२४ साउन |
हरे हरे कदम के डार
झूले सरकार
यार मतबाला
सावन का शौक निराला…..
प्रत्येक वर्ष सावन तृतीया से सावन के पूर्णिमा तक मनाया जाने वाला झूलन महोत्सव से जनकपुर गुलजार बना हुआ है । पन्द्रह दिनों तक मनाया जाने वाला झूलन में पालकी बनाकर भगवान राम सीता जी को झुलाने की परम्परा रही है ।
झुलनोत्सव के लिए जनकपुर के जानकी मन्दिर सहित अधिकांश मठ मंदिरों में विशेष झूला बनाया जाता है । जानकी मन्दिर में स्थानीय तथा भारत के नर्तक तथा गायक झूलन गीत गाते हुए महोत्सव को भव्यता ही प्रदान नहीं करते वरण पाँच से सात घण्टा तक पालकी में भगवान को झुलाते हुए हसीं ठिठोली भी करते हैं । जिस से जनकपुर का माहौल सुरम्य बना रहता है ।
पौराणिक काल में सावन महीना भर राम सीता जी झूला झुला करते थे इसी विश्वास के आधार पर सावन तृतीया से जानकी नगरी जनकपुर में झूलन महोत्सव मनाने की प्रथा चलती आ रही है ।
जनकपुर के सुन्दर सदन में तीज झूला भी मनाया जाता है ।
स्थानीय प्रदीप साह बताते हैं कि झुलनोत्सव में नेपाल तथा भारत के धार्मिक पर्यटक प्रत्येक वर्ष झूला देखने आते रहे हैं । पूर्णिमा तक ऐसे पर्यटकों से जनकपुर के प्रायः मदिर परिसर तथा धर्मशाला भरा रहता है । यद्यपि पर्यटकों का आगमन अभी से होने लगा है ।

Loading...
%d bloggers like this: