जनकपुर मे विजयादशमी सम्पन्न, राजदेवी को १६ हजार बली प्रदान

1959358_590268281084972_4786041836996701712_nकैलास दास,जनकपुर, असोज १९ । हिन्दु के महान पर्व वडा दशैं हर्षोल्लास पूर्वक मनाया गया है । जनकपुर का मुख्य आकर्षक के रुप में रहे राजा जनक के गृहदेवी के रुप में पूजित माता राजदेवी मन्दिर मेंं महाअष्टमी के दिन विगत वर्ष से ज्यादा बोका का बली प्रदान किया गया है ।
इस वर्ष अष्टमी और नवमी एक दिन होने के कारण अष्टमी के साम ६:१५ बजे से बोकाबली प्रदान शुरु हो चुका था । रात को २ बजे तक चढाया गया था ।
इस वर्ष  १५ हजार ७ सौ ५० बोका का बली प्रदान किया गया है । जबकि राम युवा कमिटी के पूर्व अध्यक्ष सोहन ठाकुर का कहना है कि यह तो केवल रसीदवाला है । यहाँ पर प्रशासनिक निकाय, संघ संस्था तथा कमिटी के मेम्बर लोग होते है जो बिना रसीद का ही बली चढाते है । उनका दावा है कि इस वर्ष १६ हजार बोका का बली हुआ है ।
विगत में १४ हजार ७ सौ २१ बोका का बाली प्रदान किया गया था । सप्तमी और 10365847_360065560835053_2822660791241397895_nअष्टमी एक ही दिन होने के कारण सप्तमी तिथि के रात १२:१५ बजे से ही राजदेवी मन्दिर में प्रसाद चढानेवालो की भीड लगी थी । महावीर युवा कमिटी के अध्यक्ष धर्मेन्द्र साह के अनुसार विगत से ज्यादा इस वार प्रसाद चढाने वालों का भी भिड था । विगत में २ बजे माता राजदेवी का द्वार खुलता था लेकिन इसबार तिथि हेरफेर के कारण १२ः१५ बजे ही दरबार खोल दिया गया था । यही कारण है कि विगत वर्ष में प्रसाद चढाने वाले श्रद्धालुओ की लाइन भानुचौक तक होता था लेकिन इसबार शिवचौक में ही सीमित हो गया । इसबार प्रसाद चढाने में महिलाओं की लाइन भी बहुत बडी थी । खासकर कहा जाय तो खोइंछ भरनेवाली श्रद्धालुओं की लाइन सबसे ज्यादा देखा गया था ।
इसी प्रकार जनकपुर के विद्यापति चौक, रामानन्दचौक, जीरोमाईल, पूलचौक सहित के स्थानो में दूर्गा माता की प्रतिमा बनाकर विशेष पूजाअर्चना किया गया है । इसके साथ ही बौद्धिमाई अमरखाना माई, पियरिया माई, पल्टीमाई, तेतरीमाई, सोनामाई, 10404354_936761763005506_1659308276213614659_nफुलेश्वरमाई सहित के शक्तिपीठों में भी श्रद्धा एवं भक्ति पूर्वक नवरात्रा मनाया गया है ।
बलीप्रदान के लिए करीब डेढ किलोमिटर तक लाइन लग था । पहले दक्षिण की ओर मात्र बोकाबली प्रदान करनेवालो का लाइन होता था । लेकिन इसबार उत्तर के तरफ भी शिवचौक तक बोकाबली चढानेवालो का लाइन देखा गया है । श्रद्धालुओं ने घन्टौ लाईन लगकर बोकाबलि प्रदान  किया है । राम युवा कमिटी तथा महावीर युवा कमिटी सहितका युवा संघ संस्थाआें के स्वयं सेवक तथा सुरक्षाकर्मी ने मिलकर लाइन में लगे श्रद्धालुओं का व्यवस्थापन किया था ।
राम युवा कमिटी के संयोजन में विश्वनाथ साह ने कमिटी के प्राङ्गण में बोकाबाली चढानेवालों को  निःशुल्क भोजन की व्यवस्था इसबार भी किया था ।
उसी प्रकार धनुषा के सबैला, यदुकुहा, धनुषाधाम सहित के स्थानो में भी  धूमधाम के साथ दूर्गा पूजा मनाया गया है । महोत्तरी के सोनामाई, सप्तरी के क्षिणमस्ता तथा DSC08675कंकालिनी सहित के शक्तिपीठों में भी हजारौं के संख्या में बोका, पारा, परेवा आदि के बलिप्रदान किया गया है ।

जनकपुर में रावण बध
जनकपुर के विजया दशमी का दुसरा आकर्षण के रुप में रहे रावण बध कार्यक्रम को इसबार भी निरन्तरता दिया गया है । विगत पाँच वर्ष से  जनकपुर में रावण बध कार्यक्रम चलता आ रहा है ।
असत्य के उपर सत्य के विजय होने के स्मरण मेंं शुक्रवार जनकपुर के गंगासागर तथा धनुषसागर को  जोडनेवाला पुल पर रावणबध कार्यक्रम किया गया है ।
DSC08713रावण वध कार्यक्रम के आयोजक महावीर युवा कमिटी का अध्यक्ष धर्मेन्द्र  साह के अनुसार यह आयोजन निरन्तर चलता रहेगा । भगवान श्रीराम ने लंका उपर विजय हासिल कर जब घर लौटे तो अयोध्यावासी तथा हिन्दुओं ने खुशी मनाया था । उसीको स्मरण करते हुए यह आयोजन नेपाल–भारत के बहुत सारे जगहो पर होता आ रहा है । DSC08717

Loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz