Fri. Sep 21st, 2018

जनप्रतिनिधि ही चोरी में संलग्न, विजली चोरनेवाले दो जनप्रनिधि गिरफ्तार

काठमांडू, १५ जून । राजनीति में कई लोग जनप्रतिनिधि को एक आदर्श पुरुष भी मानते हैं । लेकिन नेपाल में तो ऐसे कई जनप्रनिधि हैं, जिनके नाम उच्चारण करने से लोगों को शर्मिन्दा होना पड़ता है । इतिहास देखें तो जनता से भोट लेकर निर्वाचित होनेवाले कई जनप्रतिनिधि हत्या–हिंसा, भ्रष्टाचार और तस्करी काण्ड में भी शामील होते हुए दिखाई देते हैं । यहां दो जनप्रतिनिधियों के बारे में चर्चा हो रही है, जो जघन्य अपराध में तो शामील नहीं है, लेकिन अपने भोटरों के सामने उन्होंने शर्मिन्दा हरकत किया है ।
बात कल बिहीबार का है । नेपाल विद्युत प्राधिकरण से परिचालित एक समूह ने बिहीबार काभ्रे जिला स्थित मण्डनदेउपुर नगरपालिका और सप्तरी जिला स्थित तिरहुत गाउंपालिका से दो ऐसे लोगों को गिरफ्तार किया, जो स्थानीय जनप्रतिनिधि थे । प्राधिकरण टोली को कहना है कि उन लोगों ने विजली चोरी किया है । इसतरह विजली चोरी करनेवाले जनप्रतिनिधि हैं– मण्डनदेउपुर नगरपालिका वार्ड नं. ७ के वडाध्यक्ष नारायण लम्साल और तिरहुत गाउंपालिका वार्ड नंं ५ के वडाध्यक्ष रामानन्द चौधरी ।
स्मरणीय है, गत बुधबार गृहमन्त्री राम बहादुर थापा, जलस्रोत तथा सिचाई मन्त्री वर्षमान पुन, गृह सचिव प्रेम कुमार राई, प्राधिकरण के कार्यकारी निर्देशक कुलमान घिसिङ, नेपाल पुलिस के महानिरीक्षक सर्वेन्द्र खनाल आदि विशिष्ठ व्यक्तित्व सम्मिलित बैठक ने निर्णय किया था कि विजली चोरी–नियन्त्रण को परिणाममुख बनाना है । उसी निर्णय के अनुसार हर जिला में जिला प्रशासन कार्यालय और प्राधिकरण शाखा कार्यालय की ओर से संबंधिन जिला में विजली चुहावट और चोरी नियन्त्रण के लिए बिहीबार से कर्मचारी परिचालित हो गए हैं । इसी कार्यक्रम के शुरुआती दिनों में दो जनप्रनिधि सहित दर्जनों व्यक्ति विजली चोरी करने की आरोप में गिरफ्तार हो गए है ।

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of