Tue. Sep 25th, 2018

जितना बिरोध उतना कद उंचा

सीतामढी -विहार) । किसी का भी जितना विरोध होता है, उतना ही प्रचार होता है। वही हो रहा है नरेन्द्र मोदी जी के साथ। ठीक पिछली लोक सभा में मोदी जी का नाम कहीं दूर तक प्रधानमन्त्री के रूप में दिखाई नही दे रहा था। लेकिन पिछले एक वर्षसे नरेन्द्र मोदी का नाम सबसे पहले आ रहा है जिसमें मोदी जी की कडÞी मेहनत, पक्का इरादा, इमानदारी, शालीनता एवं जनता के प्रति वफादारी का परिणाम दिख पडÞता है। विरोधी पार्टर्ीीजतना वार इन पर करती हैं, वे उतने ही आगे बढÞते जा रहे हैं। यहाँ तक कि अपनी ही modiपार्टर्ीीाष्ट्रीयस्तर से लेकर प्रखण्डस्तर तक कई खेमें में बटी हर्ुइ है लेकिन हर खेमे में नरेन्द्र मोदी ही आगे दिख पडÞते है। वे सभी विरोध का शालीनता एवं संयम से जवाव देते है। अपनी ही पार्टर्ीीें उनके नाम पर सामान्तवाद की बू  थोपी जाती है। लेकिन इससे पार्टर्ीीो नुकसान न हो एकजूटता बढÞती ही जाती है। वैसे वे गुजरात राज्य से उभरते हुए विकास पुरुष माने जाते हैं, क्योकि वे लगातार तीसरी वार मुख्यमन्त्री बने है। वह भी कई अहम घटना का सामना करने के वाद।
दूसरी  ओर भारत वर्षमें ७०% लोग कृषि पर निर्भर हैं। गुजरात में किसानों को पर्ूण्ा खुश किया गया है एवं आत्मनिर्भर भी बनाया गया है। उद्योग क्षेत्र में भी काफी सफलता मिली हैं, ऐसी व्यवस्था पूरे देश में स्थापित हो इसके के लिए जनता क्यों न आगे आकर उनका साथ दे – और लोकतन्त्र में जनता सर्वोपरी होती है। इधर मुस्लिम समुदाय के लोग इन्हे पचा नहीं पा रहें हैं। लोग इसे हिन्दू की पार्टर्ीीता कर गुमराह कर देते है। विरोधी भी इसे दंगा की पार्टर्ीीताते है। लेकिन जब अटल विहारी बाजपेयी प्रधानमन्त्री बने थे तो इसकी शंका विलकुल समाप्त हो गई थी। उदाहरण के तौर पर उन्होंने अब्दुल कलाम को राष्ट्रपति बनाया था एवं भारत पाकिस्तान के बीच बस सेवा शुरु किया था न कि हिन्दुओं के लिए कोई मन्दिर बनाया था। वैसे मोदी जी के द्वारा इसी भ्रम को मिटाने के लिए अभी से ही मुस्लिम समुदाय में जाकर अभियान चलाया जा रहा है। सुरसण्ड प्रखण्ड -सीतामढी) में एक कार्यकर्ता सम्मेलन में काफी उत्साह के साथ मुस्लिम कार्यकर्ता भी उपस्थित देखाई दिए थे।
वैसे जनता के साथ साथ कार्यकर्ता को भी संयम से काम लेना होगा। हालाकि सता पार्टर्ीीयूपिए) सरकार भष्टाचार एवं महंगाई के दलदल में फंसी हर्ुइ है। ऐसे अवसर में देखना है, विरोधी पार्टर्ीीैसे कितना फायदा उठा सकती है। ििि

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of