जिसकी लाठी उसी की भैंस, फोरम से आंकाजी का इस्तिफा

मालिनी मिश्र, काठमाण्डू, २७ जुलाई ।
संघीय समाजवादी फोरम के केन्द्रीय सदस्य एवं सम्पर्क समीति के इन्चार्ज व क्रियाशील सदस्य आंकाजी शेर्पा ने ये कहते हुए कि इस पार्टी में क्रियाशील होने से ज्यादा प्रियशील होना आवश्यक है । मेहनत से ज्यादा , आपकी कितनी ज्यादा पहुँच है इस पर बल दिया जाता है । ang-kaji-sherpa-800x500_c
शेर्पा के अनुसार इस प्रकार के परिवेश से जहां नातावाद प्रमुख है वहां काम करने की स्थिति न के बराबर ही है । उन्होंने कहा कि वो पार्टी में न रहने पर भी जब तक उनके शरीर में एक बूंद रक्त की है व सांस चल रही है तब तक वह सभी जाति जनजातियों के लिए एक अभियंता की भांति काम करेंगे ।
 ईसमता पत्रिका के साथ वार्तालाप के क्रम में शेर्पा ने कहा कि उन्होंने पार्टी के विरुद्ध नही वरन् नस्लवाद व असमावेशी नेताओं के विरुद्ध इस्तिफा दिया है । इस पार्टी में जिम्मेदारी, क्षमता व योग्यता की कदर का ना होना बताया है ।
 बाद में पार्टी के सहअध्यक्ष व अंय लोगों के द्वारा, फोन करके समझाने की भी बात कही है ।
loading...