ज्योतिष विज्ञ के अनुसार ‘खप्पर योग ‘ के कारण संविधान नही बना ।

काठमाणडू, ज्योतिष शास्त्रीयों ने बताया है कि इस बर्ष के बैशाख  से असार तक अनिष्टकारी खप्पर योग की दशा चलरहा है। ज्योतिष गणना के अनुसार १४ गते को शुभ साइत नही होने के कारण चार वर्ष बाद भी संविधान नही बन सका ।

नेपाल पञ्चाङ निर्णायक समिति के अध्यक्ष माधब भट्टराई ने कहा है कि राजनैतिक व्यक्ति भौतिक चिन्तन मे तल्लिन हो गये और ज्यतिष शास्त्र को नजरअन्दाज करने के कारण ही संविधान नही वन पाया ।भट्टराई के अनुसार विश्व मे सबसे ज्यादा ज्योतिषि वेलायत मे हैं और उनलोगों ने पुर्विय ज्यतिष विद्या का भरपुर अध्यन किया है ।भट्टराई ने आरोप लगाया कि नेपाल मे ज्योतिषशास्त्र का पुर्णत: उपेक्षा किया जाता है जिसका परिणाम सामने है। उन्होने संचार माध्यम को वताया कि  ‘शास्त्रीय हिसाव से ज्योतिष विज्ञान मानव रुपी आँख है, जिसे कि नेपाल मे वासमता नही किया जाता है ।

यहाँ आयोजित एक कार्यक्रम मे राष्ट्रिय ज्योतिष विज्ञान सेवा समिति के अध्यक्ष तिलकराज पौडेल ने वताया कि ज्योतिष शास्त्र के अनुसार इस बर्ष बैशाख से असार तक अनिष्टकारी खप्पर योग होने के कारण लोगों को तकलिफ उठाना पर सकता है ।

Leave a Reply

Be the First to Comment!

avatar
  Subscribe  
Notify of
%d bloggers like this: