टपगन ट्रेनिङ्ग में नेपाल तिसरा स्थान में

नेपालगन्ज,बाके) पवन जायसवाल, २०७२ चैत्र २० गते ।
दक्षिण कोरिया की राजधानी सियुल में आयोजित २१ दिने टपगन ट्रेनिङ्ग में नेपाल के युवा अशोक कुमार चौधरी सहभागी होकर स्वदेश वापस आ चुके है ।
विश्वशान्ति तथा एकिकृत परिवार संघ और यूपीएफद्वारा आयोजित हुआ टपगन ट्रेनिङ्ग में नेपाल लगायत एशिया और अफ्रिका के बिभिन्न देशों से ३ सौ १० लोग युवाओं की सहभागिता रही थी ।33
विश्वशान्ति तथा एकिकृत परिवार संघ के संस्थापक डा. सन्म्युङ्ग मून के धर्मपत्नी डा. हाक जाहान मून ने टपगन ट्रेनिङ्ग की उद्घाटन किया वह ट्रेनिङ्ग की मुख्य उद्देश्य शान्ति के लिये युवा नेतृत्व जन्माना रहा है । लाखौं युवाओं को शान्ति की नेतृत्व करने क लिये विश्वशान्ति के लिये तयार करने की उद्देश्य रही है । इसी प्रकार की ट्रेनिङ्ग तथा कार्यक्रम वर्ष में दो बार किया जाता है ।
सो कार्यक्रम में शान्ति तथा नैतिक पवित्रता और नया“ नेतृत्व सम्बन्धी लेक्चर प्रतियोगिता में फिलिपिन्स से सहभागी प्रथम हुये, अफ्रिका से आये सहभागी दूसरे हुये और नेपाल के ओर यूपीएफ के मध्य पश्चिम क्षेत्रीय निर्देशक अशोक कुमार चौधरी तिसरे हुये है, नेपाल और नेपालियों की पहिचान के साथ– साथ नेपाल की गौरव भी बढाया है ।
टपगन ट्रेनिङ्ग गत फरवरी महीने के २० तारीख से मार्च महीने के १२ तक सम्पन्न हुआ , टपगन ट्रेनिङ्ग आगामी अगस्त महीने में कोरिया में ह िहोने जा रही है ।
ट्रेनिङ्ग में प्रशिक्षक के रुप में विभिन्न विधा के दक्ष विद्वानों में डा.. बोहीपार्क, प्रो. जोसेफ, प्रो. डटगार्ड तनाते लगायत कोरिया, अमेरिका और फिलिपिन्स के प्रशिक्षक रहे थे । Ashok

Loading...
%d bloggers like this: