ताइवान की सहमति के बिना चीन ने बनाया हवाईमार्ग

ताईपे (एजेंसी)।

 

 ताइवान सरकार ने चीन द्वारा हाल ही में बनाए गए नए हवाई मार्ग पर कडा विरोध जताया है। कहा है कि चीन के इस गैर जिम्मेदाराना कदम से क्षेत्रीय शांति को खतरा पैदा हो गया है, इस मार्ग को तत्काल बंद किया जाए।

चीन ने बिना किसी सलाह-मशविरा के ताइवान की जल सीमा के ऊपर से हवाई यातायात का नया रूट बनाकर उसे चालू कर दिया है। इससे ताइवान की सुरक्षा प्रभावित हो रही है। चीन ने पिछले हफ्ते हवाई यातायात के कई विवादित मार्ग खोले हैं। इनमें से उत्तरी क्षेत्र का एक मार्ग एम 503 ताइवान की जल सीमा के ऊपर से होकर गुजर रहा है। इस मार्ग से हवाई यातायात शुरू होने पर ताइवान की लोकतांत्रिक ढंग से चुनी हुई सरकार ने कहा है कि यह 2015 में हुए समझौते का उल्लंघन है।

इस समझौते के अनुसार चीन को ऐसा कोई हवाई मार्ग बनाने से पहले उसके बारे में ताइवान से बात करनी थी। रविवार को राष्ट्रपति साई इंग-वेन ने अपने मंत्रियों के साथ हालात पर चर्चा की, उसके बाद चीन से विरोध जताया गया। राष्ट्रपति ने कहा कि चीन के फैसले से न केवल हवाई सुरक्षा को खतरा पैदा हो गया है बल्कि ताइवान स्ट्रेट की सुरक्षा पर भी सवाल ख़़डा हो गया है। यह क्षेत्रीय स्थिरता के लिए खतरनाक है। संप्रभुता के उल्लंघन के मसले पर ताइवान का अक्सर चीन के साथ विवाद बना रहता है।

Leave a Reply

Be the First to Comment!

avatar
  Subscribe  
Notify of
%d bloggers like this: