तीज में शिवजी को भी मुद्ददा डाल्ने की तयारी में जुटें है प्रमोद और भिमा

नेपालगन्ज(बाके) पवन जायसवाल,२०७३ श्रावण ३२ गते । बाके जिलाका स्थानीय कलाकारों ने इस बार कीे तीज में शिवजी को भी मुद्ददा डाल्ने की तयारी में जुटें है ।
आप लोगों ने अभी तक नही सुना होगा आदमी के उपर मुद्दा डालते है लेकिन भगवान के उपर भी मुद्दा डाल्ने की तयारी हो रही है आप को जरुर आश्चर्य लगेगा, इस बार की तीज में नेपालगन्ज के युवा चर्चित कलाकार प्रमोद डिजी और भिमा पुन ने शिवजी के उपर मद्दा डालने की तयारी किया है ।

qqqqq
गीत रेर्कडिङ्ग के लिये बाके जिला के नेपालगन्ज में सहजता न होने के कारण इस तर्फ की आकार्षण में कुछ कमी नही । काठमाण्डौं में महंगा शुल्क देकर भी गीत रेकर्डडिङ्ग करनेवाले बँके जिला के युवा, युवतिया दिन प्रतिदिन बढते जा रहे है । विशेष करके तीज, दशै, तिहार, माघी, होली जैसे चार्डपर्व में तो जोडतोड चलती है ।
इस बार की तीज को लक्षित करके नेपालगन्ज–१६ निवासी तथा रेडियो कृष्णसार एफ.एम. नेपालगन्ज के प्रमोद डिजी की नई तीज गीत भी बाजार में आ चुकी है । “मुद्धा हाल्छु शिवजीलाई” बोल की वह गीत में बाके जिला के कञ्चनापुर गाबिस निवासी नव गायिका भिमा पुन ने प्रमोद को साथ दिया है ।
नेपालगंज के आसपास के विभिन्न जगह में छायाकंन किया गया वह गीत में कश्मिरा रसाईली, हेमन्त्त शाही, शाक्षी खड्का, पिन्टु कादु लगायत के स्थानीय कलाकारों की बेजोड नृत्य सहित की अभिनय रही है । संगीतकार तथा गायक राजेन्द्र बजगाई के लय और टंक तिमिल्सिना के शब्द  है तीज गीत की नृत्य निर्देशन नवराज सुवेदी और छायाकंन सम्पादन मिलन मगर ने किया है । इससे पहले ही प्रमोद डिजी ने १२ गीत बाजार में ला चुके है । जिस में एक लोकदोहारी, दो फिल्म और ९ आधुनिक तथा लोक पप गीत रही है । १६ वर्ष के उमर से ही सांङ्गगितक क्षेत्र में अपनी कदम आगे बढाया है प्रमोद डिजी ने अपनी छोटी उमर से ही गायन क्षेत्र में रुचि रखा है इस लिये इस विषय होने के नाते भी निरन्तरता दे रहा हू बताया ।
उन्होंने अभी भी मोफसल की कलाकार और केन्द्र के कलाकारों को समाज ने देखने की दृष्टिकोण में विभेद रही है तर्क किया । मोफसल के स्थानिय कलाकारों को हौसला देने की जगह विभिन्न आरोप प्रत्यारोप लगाकर पीछे ढकेल ने की प्रवृतिया के कारण भी मोफसल के कलाकारों को पलायन होने की स्थित रही है उनका कहना था । बि.सं. २०६६ साल में बाजार में पहली आयी गीत “रक्सीले के भन्छ” बोल की लोक पप आधुनिक गीत ही प्रमोद डिजी की थी । इसे पहले बाजार मों आई १२ गीत मध्ये २ आधुनिक गीत ने आम दर्शक,स्रोताओं का मन जीतने में सफल हुये थे । इस बार की तीज गीत ने भी उतना चर्चा पाने में सफल होने की प्रमोद डिजी का आशा है । सुदुरपश्चिम की विकट पहाडी जिला बाजुरा स्थायी घर होकर अभी बाके जिला के नेपालगंज को कर्म स्थल बनाकर रहते आये हुये प्रमोद डिजी दक्ष एवं कुशल एक प्रस्तोता समेत रहें है । करीब आधा दशक समय से ईधर देखी इस क्षेत्र के चर्चित रेडियो कृष्णसार एफ.एम.९४ मेगाहर्ज में इस वक्त कार्यरत भी रहें है अपना साङ्गगीतिक यात्रा की साथ साथ दौडाई में रहा हू बताया । आम्दानी से भी अवसर को भी अधिक सदुपयोग करने वाले प्रमोद डिजी की विशेषता है । उधर देखा जाय नव गायिका के रुप में रही बाके जिला के कञ्चनापुर गाबिस निवासी भिमा पुन ने भी इसे पहले ही चर्चित युवा गायक टंक तिमिल्सेना के साथ मिलकर “पिडाँ पाको छु” बोल की गीत बाजार में ला चुकी है । स्थानीय कला संस्कृति को आगे बढाते हुये आगामी दिनों में भी इसे और दर्शक स्रोताओं की मन जीतने लायक की गीतें बाजार में लाने की योजनाए“ नव गायिका भिमा पुन की रही बताया । बा“के जिला के कला और गला हुये ब्यक्तिओं की उद्दघम स्थल के रुप में पहिचानते है । खास करके आम्दानी और भविष्य में अधिक शौक के कारण साङ्गगितिक क्षेत्र में प्रवेश करनेवालों की क्रेज बढ्ती क्रम में है ।

pppppppppppp

loading...