दिन दहाड़े कैसे चलाई गयी गौचन के उपर गोेली ? देखिये कहाँ तक पहुँची पुलिस की अनुशन्धान ?


काठमाडौँ, आश्विन २५ गते | निर्माण व्यवसायी महासंघ के अध्यक्ष शरदकुमार गौचन सोेमबार बानेश्वर शान्तिनगर कुमुद देवकोटा मार्ग मे घर से निकले कि कुछ ही मिनेट मे ही उनके उपर गोली चलायी गइ। गोली मारने के लिए अज्ञात समुह उनका बहुत देर से इन्ताजार कर रहा था पुलिस के अनुुशन्धान में पता चला है ।
घर से करिब २ या ३ सो मिटर आगे उनकी गाडी निकली थी | ठीक उसी समय अचानक मोटरसईकल मे सवार दो लोगों ने गोली मार के फडार हो गया | ह्म्लाब्रों ने पहले गाडी पर इँटा फेका जिससे गाडी का आगे का सिसा फुट गया । ड्राइभर सिसा फुटने के आवाज से डर कर गाडी की गति को कम किया |  करिब ३० बर्ष का युवा ने रिभल्वर से गौचन के उपर ३ राउन्ड गोली मारी । गोली सिर्फ गौचन के उपर ही लगी ड्राइभर को कुछ नही हुआ । गोली मारनेके बाद हात मे रिभल्वर नचाते हुए युवा तयार अवस्था मे रखा हुआ मोटरसाइकल चढ कर कात्यायनी चोक की तरफ से भागे प्रत्यक्षदर्शीयो ने बताया । पुलिस के अनुसार घटना होने के कुछ ही समय बाद गोली मारने के लिए आए अज्ञात ब्यक्ति गुलाबी रंगके टिसर्ट और उसी रंग के हेलमेट पहने हुए थे | उसी पहचान के आधर पर उनलोगो के तलास मे पुलिस ने जगह जगह चेकजाँच मे कडाइ की । काठमाडौंसे बहर जानेवाले सभी मुख्य नाको मे पुलिस ने घटना के रात ही बर्दी सहित तथा सादा पोसाक मे प्रहरी परिचालन कर के खानतलासी और मोटरसाइकल के चेकजाँच मे कडाई की थी ।
दो अज्ञात ब्यक्ति लम्बे समय से गौचन कब घरसे बहर निकलेगें उसीका इन्ताजार करके बैठे थे अनुसन्धान मे संलग्न पुलिस अधिकारीयो ने बताया है |  गाडी की गति कम होते ही और उसी समय गोली मारने की योजना अनुुरुप अपराधीयो ने गौचन के उपर गोली मारी थी अनुसन्धान मे संलग्न पुलिस अधिकारीयो ने यह जानकारी दी । अभितक पुलिस मोटरसाइकल नम्बर और किस तरह का मोटरसाइकल प्रयोग किया गया था पता नही लगा पायी है ।
महानगरीय प्रहरी आयुक्त कार्यालय के प्रमुख एआईजी जयबहादुर चन्द के अनुसार आपराधिक समूह के व्यक्ति ने गौचनसे पैसो की बार्गेेनिङ की थी और पैसा नही मिलने से अपराधीयो ने हत्या की होगी ऐसा बताया । उन्होने घटना के सूक्ष्म तरिके से अनुसन्धान हो रहा है भी बताया । गोली कोई आपराधिक समूह चन्दा अशुली के झोक मे मारी होगी ऐसा पुलिस के प्रारम्भिक अनुशन्धान से पता चलरहा है ।
अज्ञात ब्यक्तियो के गोेली मारन से गौचन के छाती और पेट मे एक एक गोली लगी थी । तीन गोली लगने के बाद खुन गिरते हुए वे बेहोस हुए थे । बेहोस के कुछ ही समय बाद उनको नजदिक के मीनभवन स्थित सिभिल अस्पताल मे उपचार के लिए ले जाया गया था । मगर अस्पताल पहुँचते ही डाक्टरो ने गौचन को मृत घोषणा किया था ।
डाँफे कन्स्ट्रक्सन के सञ्चालक भी रहे गौचन की हत्या के कुछ मिनेट मे ही मनोज पुन समूह ने पुलिस के बहुत से इकाइ मे फोन करते हुए घटना की जिम्मेवारी ली थी । मनोज पुन मगर, लोप्साङ भोटे, समिरमान सिंह बस्नेत और श्याम घले रहे उस समूह के ब्यक्ति पुलिस के आँखो से बचते हुए पिछले करिब एक साल से भारत मे छिपे बैठे है ।
‘लोप्साङ नाम से परिचित व्यक्ति ने फोन करकर घटना की जिम्मेवारी लिया है इस बियष मे बृहत रुपसे अनुसन्धान हो रहा है पुलिस अधिकारीयो ने बताया । पुलिस ने गौचन हत्या के करिब २५ से ३० मिनेट के बाद राजधानी के मनमैजु से तीन ब्यक्तियो को नियन्त्रण में लिया था । उनलोगो के पास से एक थान हतियार सहित तीन राउन्ड गोली भी पुलिस ने बरामद की थी । नियन्त्रण मे लेने के बाद इनलोगो का गौचन के हत्या काण्ड मे हात है की नही इस का अनुसन्धान हो रहा है अनुशन्धान मे संलग्न पुलिस अधिकारीयो ने जानकारी दी है । पुलिस के अनुसार, नियन्त्रण मे लिए गये काभ्रे रोशी गाँउपालि का ४ के रहने वाले छिरिङ तामाङ, सञ्जय तामाङ और दिलीप लामा है ।

कहाँ तक पहुँची पुलिस की अनुशन्धान ?

पुलिस ने घटना होते ही कुछ समय बाद से अपराधीयो की तलास मे चेकजाँच के दौरान मंगलबार सुबह तक १ सय ८० लोगो को नियन्त्रण मे लिया था । नियन्त्रण मे लेने के बाद उनलोगो से घटना के बिषय से सम्बन्धीत कुछ सवाल किये थे । मगर पुलिस अभितक अपराधीयो को पकड नही पायी है । गौचन हत्या घटना के अनुसन्धान के साथ ही अपराधीयो को गिरफ्तार करने के लिए अनुशन्धान समिति ही गठन किया गया है ।
पुलिस प्रधान कार्यालय और महानगरीय प्रहरी परिसर ने अलग अलग रुप से अनुशन्धान समिति गठन किया है । दोनो समिति मे पाँच पाँच सदस्य है ।
प्रहरी प्रधान कार्यालय ने केन्द्रीय अनुसन्धान ब्युरो के एसएसपी शेरबहादुर बस्नेत और महाशाखा के डिएसपी अजय केसी सहित के कमाण्ड मे अनुशन्धान समिति गठन किया गया है साथ ही दुसरा महानगरीय पुलिस अपराध महाशाखा प्रमुख एसएसपी दिवेश लोहनी के कमाण्ड मे अनुशन्धान समिति गठन किया गया है ।


अनुशन्धान समित गठन किये गये समितयोके द्वारा अपराधीयो की तलास तिब्र रुप से हो रही है ।

 

Loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz
%d bloggers like this: