दिल की बात सुने दिलवाला

राधिका दास गुप्ता:हर स्त्री चाहती है पति के रुप में एक ऐसा दोस्त, जिसे उसकी हर खुशी का ख्याल हो, जिसके साथ वह बेझिझक साझा कर सके अपने दिल की हर बात ।
आज पुरुषों के नजरिए और स्वभाव में बदलाव आया है और बहुत से पति-पत्नी के अच्छे दोस्त बनकर जिंदगी बिता रहे हैं । र्सवेक्षणों से भी यह बात साबित हर्ुइ है कि जो पति अपनी पत्नी के अच्छे दोस्त बनकर रहते हैं, उनका वैवाहिक जीवन खुशियों से भरा रहता है । यही नहीं उनके बीच टेंशन का माहौल भी कम रहता है । सुमधुर दाम्पत्य के लिए कुछ टिप्सः
पत्नी की इच्छाओं और भावनाओं का हमेशा ख्याल रखें । आपके व्यवहार की वजह से कभी भी उसकी भावनाओं को ठेस न पहुंचे । र्
र् इश्वर न करे कभी ऐसा हो । फिर भी यदि कभी पत्नी बीमार पडÞ जाती है तो घर की जिम्मेदारियां संभालने की पूरी कोशिश करें । समय पर उनके दवाइयां दें और उनके खाने-पीने का पूरा ख्याल रखें ।
कभी भी किसी भी बात पर गुस्सा होने पर मायके वालों का जिक्र न करें और न ही उन्हें कोई ताना दें । कोई भी महिला अपने मायके वालों की आलोचना सुनना पसंद नहीं करती । भले ही उसकी शादी को बरसों बीत गए हों ।
अगर पत्नी के मायके में कोई टेंशन चल रही है और पत्नी आपसे परामर्श करती है तो उसे सही सलाह दें, लेकिन कभी बाद में ताना न दें कि तुम्हारे मायके वाले तो ऐसे हैं, वैसे हैं ।
जब वह अच्छी लग रही हो तो दिल खोलकर उनकी तारीफ करें । जो कलर उन पर ज्यादा अच्छा लगता हो, उन्हें बताएं कि तुम पर अमुक कलर अधिक अच्छा लगता है । आपकी सराहना जिंदगी में और मिठास घोलेगी । हर पत्नी की ख्वाहिश होती है कि पति उसकी तारीफ करें । चाहे वह उसका ड्रेसिंग सेंस हो, मेकअप का तरीका या उसकी काबिलियत ।
जिस प्रकार वह हर दिन खाने में आपकी पसंद-नापसंद का ख्याल रखती हैं । उसी प्रकार कभी-कभी आप पत्नी की पसंद की डिश बनाकर उन्हें खिलाएं । अगर आपको छुट्टी के दिन भी मौका नहीं मिलता है तो खास अवसरों पर उसकी पसंद की डिश बनाएं ।
एक अच्छा दोस्त वही होता है जिससे आप अपने दिल की बात बेहिचक कह सकें । इसलिए अपने सुख-दुख, हर छोटी-बडÞी खुशी को पत्नी के साथ शेयर करें ।
जिस सम्मान की आशा पत्नी से आप अपने परिवार वालों के लिए करते हैं, वह सम्मान आप उसके परिवार वालों को भी दें । इससे आपके संबंध और प्रगाढÞ होंगे । साथ ही पत्नी स्वयं ही ससुराल वालों को पर्ूण्ा सम्मान देगी ।
कई बार पति को लगता है कि पत्नी से क्या सलाह लेना और वह स्वयं ही फैसला कर लेते हैं । ऐसे में आप कई बार गलत फैसला भी ले लेते हैं । इसलिए पत्नी को अच्छा दोस्त मानते हुए उससे राय अवश्य लें । अच्छे दोस्त हमेशा अच्छी सलाह ही देते हैं ।
घर व बाहर के कामों में पत्नी को पर्ूण्ा सहयोग करें । यह न सोचें कि किचन, घर की सफाई और बच्चों की देखभाल आदि की जिम्मेदारी केवल पत्नी की ही है और आप का काम केवल नौकरी करना है ।
कुछ पतियों को प्रायः महत्वपर्ूण्ा तारीखें जैसे पत्नी का जन्मदिन या मैरिज एनिवर्सरी की तारीख याद नहीं रहती । कोशिश करिए कि जिंदगी के महत्वपर्ूण्ा अवसरों की तिथियां आपको याद रहें । साथ ही इन तारीखों में उन्हें सरप्राइज देना न भूलें ।
समय-समय पर पत्नी को उपहार देते रहें, चाहे वह गुलाब का एक फूल ही क्यों न हो । गुलाब का एक फूल भी पत्नी के चेहरे पर फूलों जैसी मुस्कान ला सकता है और यह आपके दापंत्य जीवन को हमेशा महकाता रहेगा ।
कुछ पति हर समय पत्नी पर रौब मारना अपनी शान समझते हैं । ऐसे युगलों के बीच मन से प्यार नहीं पनप पाता । पत्नी हर समय डरी-सहमी रहती है । इसलिए पत्नी का दिल डर से नहीं, बल्कि प्यार से जीतने की कोशिश करिए ।
अगर आपकी पत्नी भी कामकाजी हैं और वह अपनी आय से सब कुछ खरीदने के लिए स्वतंत्र हैं तो भी आप अपनी आय उन्हीं के हाथों में दें । अध्ययनों से यह बात साबित हर्ुइ है कि जब पति अपना वेतन पत्नी के हाथ में सौंपता है तो उसे गौरव की अनुभूति होती है ।
यदि आपकी गलती के कारण आप दोनों के बीच तकरार हो गई है तो अपनी गल्ती की माफी मांग लें । इससे आपके अहं को चोट नहीं पहुंचनी चाहिए । गलती हर व्यक्ति से होती है, पर जो व्यक्ति अपनी गलती स्वीकार कर लेता है उससे बडÞा कोई भी नहीं होता ।
कभी-कभी पत्नी को बाहर घुमाने ले जाएं । कभी मूवी तो कभी बाहर ड्राइव, जूस, मिल्क-शेक, आइसक्रीम, चाट, भेलपूडÞी, पान, लंच या डिनर का प्रोग्राम बनाएं ।

loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz