दिवंगत बास की पूर्व केन्द्रीय सदस्य रुक्मिणी शाह के ८ वीं बार्षिक पूण्य तिथि

नेपालगन्ज,(बाके) पवन जायसवाल, २०७३ बैशाख २९ गते ।
८ वर्ष पहले दिवंगत बास की पूर्व केन्द्रीय सदस्य रुक्मिणी शाह के ८ वीं बार्षिक पूण्य तिथि में बास ने एक छात्रा को बैशाख २७ गते सहयोग प्रदान किया है ।
बास के केन्द्रीय कार्यालय में आयोजित कार्यक्रम में मोतीपुर गाविस वडा नं. ६ मटेरिया की स्थायी घर हाल नेपालगञ्ज में रहते आई घरेलु हिंसा पीडित सीता रानी चौधरी की लडकी १६ वर्ष की छोरी सरस्वती चौधरी को सहयोग हस्तान्तरण किया गया है ।

IMG_0517
शाह की सम्झना में बास ने स्थापना किया “रुक्मिणी स्मृति अक्षय ” कोष से सरस्वती उच्च माध्यमिक विद्यालय नेपालगन्ज की कक्षा ९ में अध्ययनरत चौधरी को रु. दो हजार ५ सौ, १ झोला, दो दर्जन कापी, १ दर्जन डाट्पेन, १ ज्यामिट्र प्रदान किया है । आयोजित कार्यक्रम में सरस्वती उच्च माध्यमिक विद्यालय के प्राचार्य सुरेश कुमार परसैला, स्थानीय शान्ति समिति, बा“के के संयोजक तेज बिक्रम शाह और रुक्मिणी के दादा तथा के कार्यकारी निर्देशक नमस्कार शाह ने छात्रा चौधरी को सहयोग हस्तान्तरण किया ।
चौधरी जेहन्दार बिद्यार्थी है इस के साथ घरेलु हिंसा से पीडित होकर नेपालगञ्ज में मज्दुरी करते आ रही और लडकी को पढाने में असहज हो रही थी ।
कार्यक्रम में बोलते हुये बास के कार्यकारी निर्देशक नमस्कार शाह ने घरेलु हिंसा से पीडित छात्रा सरस्वती चौधरी को कक्षा– ९ से कक्षा १० तक अध्ययन करने में लागने वाली सभी खर्च अक्षय कोष से देने के लिये बताया । उन्हों ने कहा बिद्यालय में लागने वाली शुल्क बिद्यालय को और अन्य खर्च छात्रा को उपलब्ध कराया जाएगा बताया ।
कार्यक्रम में बोलते हुये सरस्वती उच्च माध्यमिक बिद्यालय के प्रचार्य सुरेश कुमार परसैला ने अक्षयकोष से बिद्यार्थी को पठन–पाठन में किया गया सहयोग सह्रानिय रही है बताया ।

IMG_0524
इसी तरह स्थानीय शान्ति समिति के संयोजक तेज बिक्रम शाह ने दिवँगत शाह की सम्झना में परोपकारी कार्य किया है कहते हुये कार्य की प्रशंसा किया ।
सहयोग पाने के बाद छात्रा की माता सीतारानी चौधरी ने खुशी व्यक्त कि । उन्हों ने कही – अव बेटी के लिये पढाई खर्च की चिन्ता नही होगी ।
कार्यक्रम में बास के पदाधिकारी, सदस्य, कर्मचारी तथा स्वयंसेवकों की सहभागिता में सम्पन्न वह कार्यक्रम में एक मिनेट मौनधारण किया गया था रुक्मिणी शाह की तस्वीर में पुष्प और अबीर अर्पण किया गया था ।
इसी तरह बागेश्वरी मन्दिर में रहे अशक्त, अपाङगता हुये व्यक्ति तथा जेष्ठ नागरिकों फलफूल बितरण किया गया था ।
रुक्मिणी शाह के स्मृति में बास ने ५० हजार की रुक्मिणी स्मृति अक्षय कोष स्थापना किया है । वह कोष से मध्य तथा सुदुरपश्चिम क्षेत्र के हिंसा पीडित महिलाए“को आर्थिक सहयोग करने की उद्धेश्य लिया है ।
स्मरण रहे बि.सं. २०६५ बैशाख २७ गते खास कारका“दौ में बास पूर्ब केन्द्रीय सदस्य रुक्मिणी शाह के पति लगायत लोगों ने उन की दोपहर में हत्या किया था । पूनरावेदन अदालत ने अभियुक्त कोे सर्वश्व सहित जेल सजाय की फैसला किया था ।

loading...