दुनिया की एक बहुत बड़ी समस्या को खत्म कर सकता है यह छोटा-सा कीड़ा

अमित त्रिपाठी, गोरखपुर। हर साल दुनिया में 30 करोड़ टन प्लास्टिक का उत्पादन होता है। इसका निपटारा बहुत बड़ी समस्या है, क्योंकि इसे यूं ही फेंक दें, तो जमीन और पानी प्रदूषित होता है और जला दें, तो हवा, जमीन, पानी तीनों ही खराब होते हैं। हर साल सिर्फ 10 प्रतिशत प्लास्टिक ही रिसाइकिल होता है, बाकी कचरे में तब्दील हो जाता है। साइंटिस्ट लंबे समय से ऐसे उपाय की तलाश में थे कि प्लास्टिक को बगैर नुकसान के निपटाया जा सके। लगता है कि उन्हें इसका एक हल मिल गया है। यूरोपीय साइंटिस्ट्स की एक टीम ने एक ऐसे कीड़े की खोज की है, जो प्लास्टिक को खाकर खत्म कर सकता है।
 -इस बारे में शुरुआती जानकारी दो साल पहले संयोग से मिली थी। यूनिवर्सिटी ऑफ कांताब्रिया की डेवलपमेंट बायोलाॅजिस्ट फेडेरिका बेर्टोच्चिनी अपने घर के पिछवाड़े में मधुमक्खियों के पुराने छत्ते की सफाई कर रही थीं।
-इस दौरान उन्होंने इस छत्तों में रहने वाले कुछ वैक्स वर्म को निकालकर एक पॉलीथिन बैग में भरकर रखा था। उन्होंने गौर किया कि बैग में छोटे-छोटे छेद हो गए थे। फेडेरिका ने अनुमान लगाया कि उन इल्लियों ने पॉलीथिन को खाया होगा।
-इस बैग को बनाने में पॉलीएथिलिन प्रकार के प्लास्टिक का इस्तेमाल हुआ था, जिसे खत्म करना ज्यादा कठिन होता है।
-गैलेरिया मेलोनेला नामक मॉथ (तितली की तरह पंखों वाला कीड़ा) अपने जीवन की शुरुआती अवस्था में इल्लियों के रूप में होता है। उसे वैक्स वर्म कहा जाता है। यह उन छत्तों में पाए जाने वाले माेम को खाकर जीवित रहता है।
इस रफ्तार से खत्म कर सकता है प्लास्टिक
 —————————–——————————
-फेडेरिका ने साथी वैज्ञानिकों के साथ इस डिस्कवरी को आगे बढ़ाया। उन्होंने देखा कि वैक्स वर्म किस गति से प्लास्टिक खा सकता है।
-उन्होंने अपने प्रयोगों में पाया कि 100 वैक्स वर्म एक महीने में 5.5 ग्राम के प्लास्टिक बैग को खाकर खत्म कर सकते हैं। यह किसी मॉल में मिलने वाले कैरी बैग का औसत वजन है।
-ऐसा नहीं है कि वैक्स वर्म प्लास्टिक को सिर्फ अपने दांतों से कुतरता हो। यह उसे पचा जाता है। वैज्ञानिकों का अनुमान है कि या तो उसके शरीर से ऐसे एंजाइम निकलते हैं, जो प्लास्टिक मॉलीक्यूल्स को तोड़ देते हैं या फिर यह उसके शरीर पर पाए जाने वाले किसी खास तरह के बैक्टीरिया के कारण होता होगा।
-उनकी इस खोज के बारे में विस्तार से जानकारी जर्नल ऑफ करेंट बायोलॉजी के अप्रैल 2017 के इश्यु में पब्लिश हुई थी। इस बारे में अभी रिसर्च जारी है। यह देखा जा रहा है कि क्या वैक्स वर्म अन्य प्रकार के प्लास्टिक को भी खत्म कर सकता है।
Loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz
%d bloggers like this: