दुनिया की सबसे संवेदनशील प्राणी पत्नी पर निबन्ध

– ज्ञानगुरु

व्यंग्य

पत्नी नामक प्राणी भारत सहित पूरे विश्व में बहुतायत में पाई जाती है। प्राचीन समय में यह अक्सर घर में और भोजनशाला में पाई जाती थी लेकिन अब शॉपिंग मॉल, सिनेमा थिएटर, रेस्त्रां और अन्य सामाजिक जगहों पर इन्हें आसानी से विचरण करते हुए देखा जा सकता है। प्राचीन समय में प्रजाति के लंबे बाल, सुंदर आकृति और पूरे वस्त्र देखे जा सकते थे लेकिन अब कतरे हुए केश, अत्यंत सूक्ष्म वस्त्र, श्वेत मुख और रक्त के समान   होंठ देखे जाना आम बात है।   इनका मुख्य आहार पति नामक निरीह और मूक प्राणी होता है। भारत में इन्हें भाग्यवान, लक्ष्मी तथा धर्मपत्नी आदि के नामों से भी जाना जाता है। अधिक बोलना, अकारण झगड़ना, अति व्यय करना इस प्रजाति के प्रमुख लक्षण हैं। इनका प्रमुख शत्रु स्वजाति का ‘सास’ नामक एक और विकसित भयंकर प्राणी होता है। हालांकि इस प्रजाति पर अनादिकाल से अब तक कोई समग्र अध्ययन नहीं किया गया है लेकिन सामान्यत: इनके निम्न प्रकार होते हैं

  1. सुशील पत्नी : यह प्रजाति अब लुप्त हो चुकी है। इस प्रजाति की पत्नियां सुशील, आज्ञाकारी और सहनशील होती थी तथा सिर्फ गृहकार्यों में दक्ष हो घर में निवास करती थी।
  2. आक्रमक पत्नी : यह प्रजाति भारत समेत पूरे विश्व में अधिकता से पाई जाती है। इन्हें जोर-जोर से बोलना व अकारण झगड़ा करना अतिप्रिय होता है। इनकी विशेषता कर्कश स्वर में चीखना, आक्रमक शैली में धमकाना और समय आने पर तेज प्रहार होता है। इनके प्रमुख हथियार बेलन, झाडू और चरण पादुकाएं होती है।  
  3. झगड़ालू पत्नी : यह प्रजाति भी अब भारत सहित पूरे विश्व में सामान्य रूप से पाई जाती है। इन्हें भी जोर से बोलना, कलह करना और झगड़ा करना अति प्रिय होता है। इनके प्रमुख हथियार भयंकर रूदन, अत्यधिक तीव्र स्वर में चिल्लाना और बात बात पर धमकी देकर अपने घरवालों को बुलाना होता है। भारतीय उपमहाद्वीप मे इस प्राणी का सबसे बड़ा शत्रु स्वजाति के सास और ननद नामक समान रूप खतरनाक प्राणी होते हैं जिनसे इनका सामना होता रहता है।
  4. खर्चीली पत्नी : भारत जैसे गरीब देश में इस काल में यह प्रजाति प्रमुखता से बढ़ी है। पति नामक प्राणी की आर्थिक प्रगति के साथ-साथ इनका विकास होता जा रहा है। इनका मुख्य आहार पति का  बैंक अकाउंट, क्रेडिट कार्ड होता है, साथ ही आए दिन अतिव्यय करना, बिना विचारे खर्च करना, बिना जरूरी गहने, कपड़े, जूते और एसेसरीज खरीदना इनकी  प्रमुख विशेषता होती है। इन्हें अक्सर शॉपिंग मॉल में देखा जा सकता है। यह प्रजाति पति नामक प्राणी को भी थैलियां ढोने और पैसे देने के लिए साथ में रखती हैं।
  5. नखरीली पत्नी : पत्नी प्रजाति के विकासक्रम में क्रमश: यह प्रजाति तीसरे चरण में आती हैं। विवाह पश्चात इस प्राणी को अक्सर आईने के सामने देखा जा सकता है। लंबे और पुते हुए नाखून, रंगे हुए केश और पाउडर और मेकअप की कई परतों से ढंकी इस प्रजाति का प्रिय स्थान किटी पार्टी, होटल के रेस्त्रां होता है। इन्हें भोजनशाला में जाना और भोजन बनाने संबंधी कार्य अत्यंत नापसंद होते हैं और मजबूर किए जाने पर यह प्रजाति आक्रमक हो सकती है।
  6. वैधानिक चेतावनी : पति नामक मूक और निरीह प्राणी के लिए यह प्रजाति बेहद खतरनाक और आक्रमक होती है। इन्हें साड़ी, उपहार, महंगे आभूषण, मोबाइल फोन इत्यादि से कुछ हद तक नियंत्रित किया जा सकता है।

साभार बेव दुनिया से

Loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz
%d bloggers like this: