देखिए, खुमबहादुर भी बन रहें है उम्मीदवार !

काठमांडू, २३ आश्वीन । कानुनतः भ्रष्टाचार के आरोप में प्रमाणित व्यक्ति चुनाव में उम्मीदवार नहीं बन सकते हैं । लेकिन नेपाली कांग्रेस दाङ जिला ने कानुनतः भ्रष्टाचार के आरोप में प्रमाणित व्यक्ति को भी उम्मीदवार बनाने के लिए पार्टी केन्द्र में सिफारिस किया है । इस तरह सिफारिस में पड़नेवाले व्यक्ति हैं– खुमबहादुर खड्का । खड्का पूर्व गृहमन्त्री भी हैं । खड्का को दाङ क्षेत्र नम्बर १ से उम्मीदवार के लिए सिफारिस किया गया है ।


कानुनतः भ्रष्टाचार एवं फौजदारी मुद्दा में दोषी ठहर व्यक्ति निर्वाचन में उम्मेदवार नहीं बन सकते हैं । सर्वोच्च अदालत ने ३० श्रावण ०६९ में खड्का को भ्रष्टाचारी ठहर करते हुए डेढ साल कैद और ९४ लाख ७४ हजार १ सौ २२ रुपैया बिगो और उतना ही जुरमाना भरवाने का फैसला सुनाया था । राजनीतिक दलसम्बन्धी ऐन २०७३ की दफा १४ के उपदफा २ (१) और प्रतिनिधिसभा निर्वाचन ऐन २०७४ दफा १३ के अनुसार भ्रष्टाचारी प्रमाणित व्यक्ति उम्मीदवार नहीं हो सकते हैं ।
स्मरणीय है, प्रतिनिधिसभा और प्रदेशसभा निर्वाचन ऐन पारित करते वक्त कांग्रेस सांसदों ने विधेयक परिमार्जन के लिए दबाव दिया है । उन लोगों का कहना था कि भ्रष्टाचार आरोप में प्रमाणित होकर सजाय भुगतनेवाले व्यक्तियों को भी उम्मीदवार बनाना चाहिए । उस समय बताया गया था कि कांग्रेस नेता खुमबहादुर खड्का, गोविन्दराज जोशी आदि नेताओं के दबाव में ही कांग्रेस सांसदों ने यह मांग आगे लाया था । नेपाली कांग्रेस दाङ जिला के सभापति कृतिबहादुर खड्का को भी यही कहना है । उन्होंने कहा है– खुमबहादुर दोषी ठहर हुए थे, लेकिन उन्होंने अपनी सजा काट ली है, अब वह उम्मीदवार बन सकते हैं ।’ खड्का के साथ दाङ क्षेत्र नं. १ से पार्वती डिसी चौधरी, सुशीला चौधरी, पूर्व सांसद कृष्णकिशोर घिमिरे और प्रदीप थापा का नाम भी सिफारिस किया गया है ।

Loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz