देखिए वडा अध्यक्ष की यह हरकत

गोरखा, १७ अप्रिल । लोगों की विश्वास जीत कर (वोट प्राप्त) कर ही कोई व्यक्ति जनप्रतिनिधि के रुप में काम करते हैं । उनकी मुख्य जिम्मेदारी कानुन के अनुसार लोगों की सेवा करना है । लेकिन वही जनप्रतिनिधि कानुन को धज्जियां उडाकर अपने लोगों को नौकरी दिलाने के लिए अनेक हरकत करते हैं तो लोगों की उम्मीदें क्या होगी ? ऐसी ही एक नमूना देखने को मिली है, गोरखा जिला में ।
पालुङटार नगरपालिका–१ के वडा अध्यक्ष कृष्णबहादुर परियार ने फर्जी कागजात पेश कर एक महिला को नौकरी दिला दिया है । सहायक कर्मचारी के रुप उन्होंने स्थानीय कविता बानियां (खड्का) को नियुक्त किया है । दिखावे के लिए तो भ्याकेन्सी निकालर और परीक्षा लेकर खुला प्रतियोगिता की मर्म अनुसार ही उन्होंने कविता को छनौट किया है । लेकिन कविता द्वारा जो शैक्षिक कागजात पेश हुआ है, वह उनकी नहीं है । अपनी बहन की शैक्षिक प्रमाणपत्र पेश कर उन्होंने नौकरी प्राप्त की है । लेकिन यह सब जानते हुए भी वडा अध्यक्ष परियार ने नहीं रोका, उलटे ही प्रोत्साहित किया । यहाँ तक कि उन्होंने ‘दो नामवाले व्यक्ति एक ही है’ कहकर फर्जी सिफारिश भी बना दिया ।
प्राप्त समाचार अनुसार वडा कार्यालय द्वारा खुला परीक्षा के लिए नोटिश सार्वजनिक होने के बाद ७ लोगों ने नौकरी लिए परीक्षा दी थी । परीक्षा के बाद कविता की नाम प्रकाशित की गई । बाद में स्थानीय बासियों ने पता लगाय कि कविता ने जो लब्धाङपत्र और चारित्रिक प्रमाणपत्र पेश की थी, वह उनके ही छोटी बहन हिरा बानियां का था । लेकिन वडा अध्यक्ष परियार ने कविता और हिरा एक ही व्यक्ति होने का झुटा विवरण बना कर कविता को सहायक कर्मचारी के रुप में नियुक्त किया । इसके विरुद्ध जिला प्रशासन कार्यालय गोरखा में मुद्दा पंजीकृत हुआ है । जिला प्रशासन कार्यालय ने कहा है कि घटना के संबंध में थप अनुसंधान हो रहा है ।

Loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

avatar
  Subscribe  
Notify of
%d bloggers like this: